29 C
Mumbai
Friday, December 9, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

मुस्लिम सियासत में नया मोड़, बनेगा नया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ?

पटना । वर्तमान समय मे मुस्लिम समुदाय अपने नेतृत्व को लेकर चिंतित है,अपने हितों को ध्यान में रखकर कौम को गुमराह कर सियासी रोटियां सेंकने वाले संगठनों से कौम की बढ़ती नाराजगी,तीन तलाक जैसे गम्भीर मुद्दे पर पर्सनल लॉ बोर्ड के दोहरे किरदार,युवाओ के रोजगार के लिए न सोचकर सतही सियासी हथकंडे अपनाने की मानसिकता,तालीम तरबियत से दूर तक रिस्ता न रखने की सोच से विचलित हुए अनेक आलिम,बुद्धजीवियों,मुस्लिम समाज के सोशल एक्टिविस्ट महिलाओ के हक़ के लिए लड़ने वाली एक्टिविस्ट आदि लगातार बैठक मन्त्रणा कर इस नतीजे पर पहुचे है कि नया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड गठित कर कुरान सम्मत प्रगतिशील बदलाव,सही व्याख्या,मुखयधारा से समाज को जोड़ने,सूफीवाद के प्रसार को बढाने,मजहब से खिलवाड़ वाली सियासत को रोकने,गुमराह नौजवानों को दिशाहीन होने से बचाने के लिए एक नए संगठन की जरूरत है,नाम न लिखने की शर्त पर सूत्र ने बताया कि पश्चिम बंगाल,देहली,छत्तीसगढ़,उत्तरप्रदेश,तेलंगाना,मध्यप्रदेश,उत्तर प्रदेश के अनेक लोगो की पटना,देहली, पटना के बाद लखनऊ में बैठक हो चुकी है,नवम्बर के अंत मे फिर लखनऊ में बैठक होगी जिसमें नए बोर्ड की नियमावली,पदाधिकारियों के चयन,उद्देश्य,विषय बिंदुओं पर बुद्धजीवियों से प्राप्त रिपोर्ट के आधार पर विचार कर तंजीम को अंतिम रूप दिया जाएगा। *नए बोर्ड के एलान के सम्बंध में सूत्रों ने बताया कि दिसम्बर माह में पंजीकरण की औपचारिकता पूरी करने के बाद घोषणा होगी*
नए बोर्ड के गठन की सुगबुगाहट के बाद मुस्लिमो के ठेकेदार बने संगठनों में खलबली मची हुई,बिहार,देहली,पश्चिम बंगाल व उत्तरप्रदेश के आलिमो,बुद्धिजीवियों के साहसिक प्रयाश को दो बड़े इस्लामिक संस्थान ध्वस्त करने में भी अंदरखाने लगे हुए है उनका मानना है कि नए बोर्ड के गठन से कही उनकी स्थित पर दुष्प्रभाव पड़ सकता है।

रिपोर्ट –
परवेज अली खान
उर्दू महाना कयादत
देहली

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here