30 C
Mumbai
Friday, December 9, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

बाप डॉन, बेटा मौलाना, सदमे में दाऊद इब्राहिम के जाने की खबर !

मुंबई – 26 नबम्बर, मुंबई सीरियल धमाकों का मास्टरमाइंड और अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम के अपने इकलौते पुत्र के मौलाना बनने के बाद इन दिनों डिप्रेशन में होने की चर्चा है। वास्तव में अपनी अथाह काली कमाई के बावजूद दाऊद ऐसी मुश्किल में फंस गया है, जिसका उससे समाधान नहीं निकल पा रहा है। दरअसल दाऊद का इकलौता बेटा मोइन नवाज डी कास्कर (31) मौलाना बन गया है। इसके कारण दाऊद के डिप्रेशन में जाने की चर्चा है।

दाऊद को समझ में नहीं आ रहा है कि उसके बाद उसके विशाल कारोबार की देखभाल कौन करेगा? मोइन के अलावा दाऊद की दो बेटियां हैं। ठाणे के एंटी एक्सटोर्शन सेल के प्रमुख और दाऊद के छोटे भाई इकबाल कास्कर से पूछताछ करने वाले प्रदीप शर्मा (इनकाउन्टर स्पेशलिस्ट) ने बताया ‘मोइन अपने पिता की गैरकानूनी गतिविधियों का बहुत बड़ा विरोधी है। उसको लगता है कि इसके चलते पूरी दुनिया में उन लोगों की बदनामी हुई है और ज्यादातर परिजनों को भगोड़ों की तरह रहना पड़ रहा है।’

शर्मा ने बताया कि दाऊद के भाई इकबाल से पूछताछ के दौरान दाऊद के परिवार के बारे में कई महत्वपूर्ण सूचनाएं मिली हैं। फिरौती के तीन मामलों में इकबाल को पिछले सितंबर में गिरफ्तार किया गया था। इकबाल ने पुलिस को बताया कि उसका एक और भाई अनीस इब्राहिम बढ़ती उम्र के चलते बीमार रहने लगा है। अन्य भाई मर चुके हैं। इसके अलावा ऐसा कोई अन्य करीबी रिश्तेदार भी नहीं है, जो दाऊद के बाद उसके काले कारोबार को संभाल सके।

साथ ही शर्मा ने ये भी बताया कि ‘दाऊद के बेटे ने पिछले कुछ सालों से अपने परिवार से नाता तोड़ लिया है। उसका अपने पिता के कारोबार से भी उसका कोई लेना-देना नहीं है। हालांकि, अभी यह पता नहीं है कि बाप-बेटे में बातचीत होती है या नहीं।’ इकबाल ने पुलिस को बताया कि उसका एक और भाई अनीस इब्राहिम बढ़ती उम्र के चलते बीमार रहने लगा है। अन्य भाई मर चुके हैं। इसके अलावा ऐसा कोई अन्य करीबी रिश्तेदार भी नहीं है, जो दाऊद के बाद उसके काले कारोबार को संभाल सके।
दाऊद का बेटा मोइन नवाज अब एक सम्मानित मौलाना है और उसे पूरा कुरान याद है। कराची के पॉश इलाके में बने अपने पारिवारिक बंगले को भी उसने छोड़ दिया है और बगल के एक मस्जिद में रहने चला गया है। उसका मुख्य काम युवाओं को कुरान की शिक्षा देना है। उसकी पत्नी और तीन नाबालिग बच्चे भी मस्जिद प्रबंधन की ओर से दिए गए छोटे से कमरे में रह रहे हैं।

– सौ. एएनएस

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here