25 C
Mumbai
Thursday, June 30, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

यूपी बोर्ड ने बना दिया परीक्षा केंद्र छप्पर वाले विद्यालयों को भी , धन्य है यूपी बोर्ड !!! —— श्रीभगवान कुशवाह

नकल विहिन परीक्षा कराने के लिए दम भरने वाली यूपी शासन के निर्देशों को किया गया तार-तार….
यूपी – इलाहाबाद – ज्ञात हो कि शासन ने मानक के अनुरूप आॅनलाइन परीक्षा कंेद्र निर्धारण का निर्देश जारी किया था। बावजूद इसके यूपी बोर्ड की ओर से परीक्षा केंद्रों के निर्धारण में जमकर नियमों की धज्जिया उड़ाई गई। जिले में ऐसे विद्यालयों को परीक्षा केंद्र बना दिया गया है। जहां मूलभूत सुविधाएं तो दूर सिर पर पक्की छत तक नहीं हैं। जिले के कई स्कूलों में ना तो सीसीटीवी कैमरा है और ना ही कम्प्यूटर आॅपरेटर, विद्युत कनेक्शन या जनरेटर की सुविधाएं हैं। ऐसे में परीक्षा केंद्रों के निर्धारण को लेकर बोर्ड के अधिकारी घिरते नजर आ रहे हैं।
यूपी बोर्ड की ओर से आयोजित होने वाली कक्षा 10वीं और 12वीं की बोर्ड परीक्षा फरवरी 2018 में प्रारंभ हो रही है। इसके लिए प्रदेश के कुल 8540 परीक्षा केंद्र बनाए जा रहे हैं। पिछली बार की तुलना में इस बार 2874 परीक्षा केंद्रों में कमी की गई है। शासन ने परीक्षा केंद्रों के निर्धारण में मनमारी को रोकने और नकल पर नकेल कसने के लिए आॅनलाइन परीक्षा केंद्र निर्धारण का निर्देश जारी किया था। साथ ही परीक्षा केंद्र के लिए मानक तय किए। निर्देश के तहत आॅन लाइन परीक्षा केंद्रों का निर्धारण तो हुआ लेकिन नियमांे को ताक पर रख।
यानि ऐसे विद्यालयों को भी परीक्षा केंद्र बना दिया गया जो मानक को पूरा ही नहीं करते। इलाहाबाद जिले के लालगोपालगंज इलाके में स्थित खपरैल वाले विद्यालय को परीक्षा केंद्र बना दिया गया है। जबकि मानक में परीक्षा केंद्र के क्लास रूम लेंटर्ड होने चाहिए। बावजूद इसके दो चरणों की प्रकिया में इसे परीक्षा केंद्र बना दिया गया। यहीं नहीं प्राप्त जानकारी के अनुसार हरवारा क्षेत्र में तो एक परीक्षा केंद्र की कक्ष संख्या ही जिला विद्यालय निरीक्षक यानि डीआईओएस द्वारा बढ़ा कर 21 भेजी गई है।
जबकि आॅनलाइन उपलब्ध कराई गई सूचना में मात्र 16 कमरों को दर्शाया गया है। डीआईओएस की इस तरह की लापरवाही केवल इलाहाबाद जिले से ही नहीं है बल्कि करीब सभी जिलों से मिल रही है। परीक्षा केंद्रों के निर्धारण में मिल रही इस अनियमितता को लेकर इस संबंध मंे बोर्ड सचिव नीना श्रीवास्तव से संपर्क किया गया। लेकिन उनसे संपर्क नहीं हो पाया।
67 लाख 29 हजार परीक्षार्थी देंगे परीक्षा
6 फरवरी से प्रांरभ होने जा रही यूपी बोर्ड की परीक्षा में कुल 67,29,540 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसमें हाईस्कूल के 37,12,508 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इसमें छात्रों की संख्या 21,93,030 और छात्राओं की संख्या 15,19,478 है। इसके अलावा इंटरमीडिएट में कुल 30,17,032 परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। इसमें छात्रों की संख्या 17,06,479 और छात्राओं की संख्या 13,10, 553 है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here