33 C
Mumbai
Monday, November 28, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

रसूक के चलते ‘सपना चौधरी’ के कार्यक्रम आयोजक ने प्रशासन से ली अनुमति, सुरक्षा व्यवस्था के नाम पर एक SI और चंद पुलिसकर्मी, जमकर मचा बवाल । —– रिपोर्ट – पीके लोधी

कानपुर में सपना चौधरी पर बरसे पत्थर, बाउंसरों के चलते बाल-बाल बची जान, बृजेंद्र स्वरूप में चल रहा था कार्यक्रम, मुहंमागी कीमत पर टिकट लेकर भी प्रवेश नहीं मिलने से भड़की पब्लिक। लेकिन क्या आयोजक से जनता के पैसे वापस दिलाये जायेंगे ? क्या आयोजक पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी ?

कानपुर –  हरियाणा की मशहूर डांसर सपना चौधरी का कानपुर के बृजेंद्र रूवरूप पार्क में शो था, जिसे देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग पहुंचे। लेकिन कार्यक्रम शुरू होने से कुछ मिनट पहले आयोजकों ने प्रवेश गेट पर बैरीकेटिंग लगा दी, इसके कारण मुहंमागी कीमत पर टिकट लेकर शो देखने पहुंचे दर्शक भड़क गए। गेट में तैनात बाउंसरों ने जब उन्हें रोकने की कोशिश की तो पब्लिक ने पथराव शुरू कर दिया। गुस्साए भीड़ गेट को तोड़ते हुएं अंदर दाखिल हो गई और स्टेज पर पत्थरों से हमला कर दिया। सपना के प्राइवेट बाउंसर किसी तरह से उन्हें बचाकर बाहर ले गए। इस दौरान एक दर्जन बांउसर बुरी तरह घायल हो गए, वहीं दर्जनों लोग भी चुटहिल हुए। आधे घंटे तक मूकदर्शक बनी पुलिस हरकत में आई और बवालियों पर लाठीचार्ज कर उन्हें खदेड़ा।

आयोजकों के चलते शो में फिरा पानी 

कानपुर में हरियाणा की मशहूर डांसर के हजारों दिवाने हैं और उनकी एक झलख पाने के लिए पांच का टिकट पांच हजार में खरीदा। लेकिन आयोजकों के चलते शो में पानी फिर गया। टिकट बेचकर आयोजकों ने अपनी जेब गर्म ली, पर सपना को देखने आए प्रसंशक बाहर खड़े रहे। जब उन्होंने जबरन घुसने का प्रयास किया तो आयोजकों के बाउंसर आ धमके। पब्लिक और बाउंसरों के बीच टकराव हुआ जो पथराव में बदल गया। गुस्साए लोगों ने जमकर पत्थरबाजी शुरू कर दी। इसी के चलते सुरक्षा व्यवस्था में खड़े पुलिसकर्मी भी बचकर भाग खड़े हुए। भीड़ बेरीकेटिंग तोड़कर स्टेज की तरफ बढ़ गई और सपना पर पत्थर फेंकने लगी। 60 से ज्यादा प्राईवेट बाउंसरों ने घेरा बनाकर किसी तरह से डांसर को सकुशल बाहर निकाला। पत्थरबाजी में करीब एक दर्जन बाउंसर और दर्जनों महिलाएं, युवा और युवतियों घायल हो गईं। डॉक्टर झा थे आर्गनाइजर।

उद्घाटन करने पहुंची थी मेयर

डांसर सपना चौधरी के शो को कानपुर के डॉक्टर आनंद झा करवा रहे थे। बृजेंद्र स्वरूप्प पार्क में दर्शकों के बैठने की व्यवस्था की गई थी। कार्यक्रम का उद्घाटन कानपुर की मेयर प्रमिला पांडेय ने किया। मेयर कुछ देर रूकीं और चली गईं। उनके जाते ही वहा सुरक्षा-व्यवस्था में लगे पुलिसकर्मी शो देखने के लिए अंदर आ गए। गेट पर सिर्फ प्राईवेट बाउंसर लोगों को रोकने के लिए खड़े थे। जैसे ही सपना ने डांस करना शुरू किया तो बाहर खड़ी भीड़ उत्तेजित हो गई और जबरन अंदर प्रवेश करनी लगी। नेहरू नगर निवासी राहुल ने बताया कि हम चार दोस्त दो हजार के टिकट लेकर समय से आ गए थे। पर बाउंसर ने जगह फेल हो जाने की बात कर अंदर जाने से रोक दिया। बवाल के बाद डॉक्टर झा और उनकी टीम सपना को लेकर चली गई और कुछ देर के बाद कई थानों की फोर्स आकर बवालियों को खदेड़ा।.

सुरक्षा-व्यवस्था के नाम पर चंद पुलिसकर्मी

डॉक्टर ने अपने रूतबे के चलते कार्यक्रम की रजामंदी जिला प्रशासन से ले ली, पर सुरक्षा-व्यवस्था के नाम पर कुछ नहीं किया। स्परूप नगर थाने के आधा दर्जन पुलिसकर्मी और एक एसआई मौजूद था। इतना ही नहीं कार्यक्रम शुरू होते ही पुलिसकर्मी अंदर चले गए और सेल्फी लेने लगे। वहीं डांसर को देखने के लिए जो लोग अंदर पहुंच गए उनके हाथ मायूषी लगी। महज 15 से 20 मिनट के बाद बवाल होते ही सपना डांस बंद कर स्टेज से निकल गईं। मामले पर एसएसपी अखिलेश मीणा ने कहा कि पूरे प्रकरण की जांच कराई जा रही है। कार्यक्रम की परमीसन किसने दी और आयोजकों ने सुरक्षा के नाम पर क्या मापदंड अपनाए, पर पड़ताल पुलिस कर रही है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here