33 C
Mumbai
Monday, November 28, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

सत्ता का रशूक : बलत्कारी बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर घूम रहा खुलेआम ! मोदी चुप, योगी कर रहे तलब करने का दिखावा ? —- रिपोर्ट – विजय त्रिपाठी

उन्नाव – दहशत गर्द इतिहास है बीजेपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर का।चर्चित गैंगरेप केस की लपटें देगी पूर्व के सभी पीड़ितों को न्याय व राहत। उन्नाव के बांगरमऊ से विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और पीड़िता का घर माखी गांव में पास-पास है। इस प्रकरण के बाद गांव में सन्नाटा पसरा हुआ है। लोग कैमरे पर कुछ भी बोलने को तैयार नहीं हैं। गांव में पुलिस और पीएसी की भारी तैनाती है। इस पूरे मामले में विधायक के करीबी व कुछ लोगो से एक मैगज़ीन की बातचित में खुलासा हुआ जिसमें उन्हाेंने बताया है कि पीड़िता कुछ समय पहले एक लड़के के साथ भाग गई थी। जिसके बाद परिवार ने लड़के के परिवार को फंसाने का दबाव बनाया था, लेकिन सेंगर के मना करने पर परिवार विधायक को फंसा रहा है। जिन्होंने लड़की के पिता को पीटा, उनका विधायक से कोई संबंध नहीं है। वहीं गांव के एक बुजुर्ग ने भी विधायक की दबंगई का खुलासा किया है और लड़की के भागने वाली बात की भी पुष्टि की है।

भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर का इतिहास-
मूलरूप से फतेहपुर जिले के रहने वाले कुलदीप सेंगर का उन्नाव के माखी गांव में ननिहाल है जहां से इनकी माता ग्राम प्रधान थी। इनके राजनीतिक करियर की शुरुआत युवक कांग्रेस के जिला महामंत्री के रूप में हुई। हालांकि जल्द ही कुलदीप सेंगर ने 2002 में हाथी की सवारी की और विधायक बने। तभी से विधायक की दबंगई के चर्चे गलियारों में सुनाई देने लगे क्षेत्र के पड़ाव, अड्डों आदि से नाजायज वसूली और रंगदारी से दबंग विधायक के रूप में पहचान हुई। 2007 में हाथी से उतर कर सपा की साइकिल पर सवार हुए कुलदीप दूसरी बार भी विधायक बने। अब जब बीजेपी के कमल के रसपान से दोबारा विधायकी मिली तो कुलदीप के बेलगाम भाइयों ने भी दबंगई शुरू कर दी।विधायक के भाई अतुल सिंह ने अवैध खनन पर लगाम लगाने, वाले तत्कालीन अपर पुलिस अधीक्षक रामलाल वर्मा को दिनदहाड़े गोली मारी थी। इतना ही नहीं विधायक के इस सिरफिरे भाई ने कानपुर में एक पत्रकार की भी गोली मारकर हत्या कर दी। राजनीतिक संरक्षण हाेने की वजह से विधायक अपने भाई अतुल को बचाने में कामयाब रहा। दबंगई के बाद अब विधायक ने गंगा में अवैध बालू खनन का काम शुरू किया।
जिनके ऊपर 125 करोड़ के अवैध बालू खनन का भी आरोप लगा है। मीडिया ने जब कुलदीप सेंगर के अवैध बालू खनन के कारोबार को दिखाया तो विधायक ने पुलिस पर दबाव बनाकर पत्रकार पर फ़र्ज़ी मुकदमा दर्ज करा दिया। भाजपा का दामन थामने के बाद भी विधायक की दबंगई नही रुकी। भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर पर माखी थाने में जहां कई मामले दर्ज हैं वहीं इसके भाई अतुल सिंह की हिस्ट्रीशीट भी है।

उन्नाव बीजेपी विधायक का भाई गिरफ्तार, कुलदीप सेंगर का भाई अतुल सेंगर गिरफ्तार।

सामूहिक दुष्कर्म पीड़ित के पिता से मारपीट मामले में अरेस्ट। DGP का बयान- मैं इस समाचार की पुष्टि करता हूं-डीजीपी, लखनऊ की क्राइम ब्रांच को कुछ साक्ष्य मिले, इन साक्ष्यों के आधार पर अतुल को गिरफ्तार किया अब अतुल के खिलाफ वैधानिक कार्रवाई होगी, कोई कोताही, लापरवाही नहीं की गयी। पुलिस की लापरवाही दिखी तो कार्रवाई की, 5 पुलिसकर्मियों को सस्पेंड किया, लखनऊ से गई क्राइम ब्रांच स्वतंत्र काम कर रही है। टीम को लगा अतुल की गिरफ्तारी जरूरी है, कानून के दायरे में पूरी कार्रवाई होगी।

उन्नाव में हुए दुष्कर्म का मामला- कई घंटों तक चला गैंगरेप पीड़िता के पिता का पोस्टमार्टम, शॉक और ब्रेन हेमरेज के चलते हुई पीड़िता के पिता की मौत, परिजनों के आरोपों पर लगा विराम। 3 डॉक्टर्स के पैनल, वीडियो फोटोग्राफी के बीच हुआ PM, परिजनों को आज सौंपा शव, सकुशल अंतिम संस्कार कराने में जुटा उन्नाव प्रशासन।
संदिग्ध परिस्थितियों में हुई थी पीड़िता के पिता की मौत, परिजन लगा रहे थे जेल में हत्या करने का आरोप।

उन्नाव- जेल में विधायक की दखल का खुलासा, विधायक कुलदीप सिंह का रिश्तेदार है जेल में सप्लायर। सप्लायर के पास है जेल में राशन, सब्जी सप्लाई का ठेका, सप्लायर से भी होगी पूछताछ। आईजी रेंज लखनऊ भी मामले की जांच को देखेंगें ।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here