26 C
Mumbai
Sunday, November 27, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

अब तक मेरठ जोन में 569 मुठभेड़ हुई, जिसमें 33 बदमाश हुये ढेर । —- रिपोर्ट – पीके लोधी

मेरठ – मेरठ जोन में एक साल में अब तक 569 मुठभेड़ हुई हैं। इसमें 33 बदमाश ढेर हुए हैं और 231 बदमाश गोली लगने से घायल हुए हैं। ऑपरेशन एनकाउंटर के तहत पुलिस ने 1178 बदमाशों को जेल भेजा है। एडीजी प्रशांत कुमार का दावा है कि बलराज उर्फ भाटी के एनकाउंटर की एक साल में सबसे बड़ी कार्रवाई है। इससे निश्चित तौर पर वेस्ट यूपी के अपराध में कमी आएगी।

सोमवार को मेरठ जोन एडीजी कार्यालय ने मुठभेड़ की रिपोर्ट जारी की। 20 मार्च 2017 से 23 अप्रैल 2018 तक जोन में 569 बार मुठभेड़ हुई है। इसमें 1178 बदमाश पकड़े गए। 231 बदमाश मुठभेड़ में घायल हुए। 33 बदमाश मारे गए। बदमाशों की गोली लगने से 157 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं, जबकि एक पुलिसकर्मी शहीद हुआ है। 1178 में पुरस्कार घोषित बदमाशों की संख्या 491 है। इसमें से 28 बदमाशों के विरुद्ध रासुका की कार्रवाई हो चुकी है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस ऑपरेशन में पन्द्रह गैंगस्टर बदमाशों को भी गिरफ्तार किया गया है। इन गैंगस्टर बदमाशों की 8.29 करोड़ रुपये की संपत्ति भी जब्त की गई है।

मेरठ जोन में सबसे ज्यादा मुठभेड़ मुजफ्फरनगर में 148 और सबसे कम मुठभेड़ हापुड़ में पांच हुई हैं। औसतन जोन में हर रोज पांच मुठभेड़ हो रही हैं। मेरठ जोन एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि बलराज भाटी पर यूपी, दिल्ली और हरियाणा पुलिस सहित तीनों राज्यों की एसटीएफ काम कर रही थी। ज्वाइंट ऑपरेशन में हमें सफलता मिली है। एडीजी का दावा है कि एक साल के भीतर हमारी यह सबसे बड़ी उपलब्धि है। बलराज के खात्मे से वेस्ट यूपी के अपराध में कमी जरूर आएगी और अपराधियों में दहशत बैठेगी।

 

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here