29 C
Mumbai
Monday, November 28, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

एक ऐसा IPS अधिकारी जो बिना कोचिंग गए बने IPS, अब छात्रों को दे रहे फ्री कोचिंग । —- रिपोर्ट – एस के मिश्रा

उत्तरप्रदेश – समाज में बहुत कम ऐसे लोग होते हैं जो सफलता पाने के बाद आम लोगों के लिए भी कुछ करते हैं. अक्सर देखा जाता है कि लोग सफलता हासिल करने के बाद अपनी जिम्मेदारियों को भूल ही जाते हैं. लेकिन आज हम आपको एक ऐसे IPS ऑफिसर से मिलवाने जा रहे हैं जो न तो अपनी जिम्मेदारियों से भागते हैं बल्कि अपने किमती समय में से थोड़ा समय बच्चों को भी देते हैं ताकि वो भी उनकी तरह ऑफिसर बन सकें ।

जम्मू कश्मीर के आईपीएस अफसर संदीप चौधरी –
दरअसल, हम बात कर रहे हैं जम्मू कश्मीर के आईपीएस अफसर संदीप चौधरी की, जो अपने जैसे तमाम अफसरों के लिए मिसाल हैं. न तो कभी कॉलेज गए और न ही कोई कोचिंग ली फिर भी आईपीएस अफसर बनें और अब रोज दो घंटे निकालकर दूसरे बच्चों का भविष्य संवारने में जुटे हुए हैं. संदीप न तो वक्त की कमी का रोना रोते हैं और न ही थकान का. मकसद है उनका ऑपरेशन ड्रीम्स….

कश्मीर में ऐसे बहुत से छात्र हैं जो यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं –
आपको बता दें कि कश्मीर में ऐसे बहुत से छात्र हैं, जो यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करना चाहते हैं, मगर उनके पास इतना पैसा नहीं है कि वो बड़े-बड़े कोचिंग सेंटर की मोटी फीस चुका सकें. ऐसे ही युवाओं की मदद कर रहे हैं संदीप. वो इन्हें मुफ्त में कोचिंग दे रहे हैं. संदीप ने बताया कि वो कभी कॉलेज नहीं गए हैं. उन्होंने B.A. और M.A. की पढ़ाई पत्राचार के जरिए की है. इसके बाद भी उन्होंने यूपीएससी की परीक्षा को पास करने के लिए कोई कोचिंग नहीं ली. उनका कहना है कि सफलता पाने के लिए अच्छे मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है, न किसी कोचिंग सेंटर की ।

https://manvadhikarabhivyakti.com/wp-content/uploads/2018/05/img_20180529_134443.jpg

ऑपरेशन ड्रीम्स की शुरुआत –
2012 बैच के आईपीएस ऑफ़िसर संदीप ने बताया कि किस तरह उन्होंन ऑपरेशन ड्रीम्स की शुरुआत की. वो कहते हैं कि एक दिन ऐसे ही वो अपने साथी से जम्मू में होने वाले सब-इंस्पेक्टर की पोस्ट की परीक्षा को लेकर बात कर रहे थे. तभी उनके दिमाग में छात्रों को कोचिंग देना का आईडिया आया था ।

Contact Now

https://manvadhikarabhivyakti.com/wp-content/uploads/2018/05/img_20180528_164636.jpg

ऑफिस में ही 10-15 छात्रों को पढ़ाते थे –
30 मई को उन्होंने इस पर काम करना शुरू किया था. तब वो अपने ऑफिस में ही 10-15 छात्रों को पढ़ाते थे और अब ये संख्या 150 के आस-पास पहुंच गई है. गौर करने वाली बात ये है कि इनमें 25 कश्मीरी लड़कियां भी शामिल हैं. इनकी ये क्लास 23 जून तक चलने वाली है. संदीप की ज़िदादिली से प्रभावित होते हुए एक शख्स ने इसके लिए एक वेयर हाउस दे दिया है, जहां अब सभी छात्रों की कक्षा लगती है ।

बैंकिंग की कोचिंग भी देने का आग्रह कर रहे हैं छात्र –
अब छात्र उनसे यूपीएससी, बैंकिंग की कोचिंग देने का आग्रह कर रहे हैं. इसके लिए संदीप अलग से प्लानिंग कर रह हैं. संदीप के इस सराहनीय कदम से न सिर्फ़ छात्रों का भविष्य सुधरेगा, बल्कि कश्मीरियों का भी प्रशासन पर भरोसा भी बढ़ेगा….

– “मानवाधिकार अभिव्यक्ति” व श्रमिक उत्थान एवंम सामाजिक कल्याणकारी असो . आपको सलाम करता है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here