28 C
Mumbai
Friday, September 30, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

सोनभद्र में हत्या कान्ड के तार सपा से जुड़ा हुआ : योगी आदित्यनाथ।

रिपोर्ट-विपिन निगम

लखनऊ(यूपी): लखनऊ विधान परिषद में सोमवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा सोनभद्र काण्ड के हत्यारे प्रधान को समाजवादी पार्टी से जुड़े होने की बात कहे जाने पर हंगामा हो गया। सपा के सदस्य प्रदेश की कानून-व्यवस्था के मुद्दे पर नारेबाजी करने लगे। कुछ ही मिनट में मामला शान्त होने पर मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार ने अब तक दो साल चार माह का कार्यकाल पूरा किया है और इस अवधि में कानून-व्यवस्था में व्यापक सुधार हुआ है।
उन्होंने कहा कि इसका एक पैमाना यह है कि प्रदेश में तेजी से निवेश बढ़ रहा है। मुख्यमंत्री के इस वक्तव्य पर विपक्षी सपा सदस्यों ने हंगामा शुरू कर दिया। उनका कहना था कि प्रश्नकाल में सोनभद्र काण्ड का उल्लेख करने का क्या औचित्य है? इस पर नेता सदन डा. दिनेश शर्मा ने कहा कि विपक्ष की ओर से जब सोनभद्र की बात उठी तब मुख्यमंत्री ने जवाब दिया है।
प्रश्नकाल में सपा के अमित यादव ने इस साल एक से 15 मार्च के बीच प्रदेश में घटी आपराधिक घटनाओं का ब्योरा देने की मांग की थी। जवाब में सरकारी की ओर से कहा गया कि उक्त अवधि में हत्या के 154, लूट के 79 और डकैती की तीन घटनाएं हुईं जबकि फिरौती के लिए अपहरण की कोई घटना नहीं हुई। यह भी दावा किया गया कि उस अवधि में सूबे की कानून-व्यवस्था सुदृढ़ रही और सांप्रदायिक सौहार्द बेहतर रहा।
इस पर विपक्ष की ओर से आपत्ति की गई और कहा गया कि सरकार आंकड़े छुपा रही है। मुख्यमंत्री ने हस्तक्षेप करते हुए कहा कि इसमें कोई शक नहीं कि कानून-व्यवस्था की स्थिति में काफी सुधार हुआ है। ढाई साल में सांप्रदायिक सौहार्द का जो माहौल रहा है, वैसा पहले कभी नहीं रहा।
उन्होंने कहा कि सोनभद्र में नृशंसतापूर्ण हत्या का मामला सामने आया है। एक पार्टी के वरिष्ठ नेता ने गलत तरीके से जमीन ट्रस्ट के नाम कर दी थी। बाद में उसे अपने परिवार के सदस्यों के नाम करवा लिया। इस दौरान विपक्षी सदस्यों ने उ‌न्हें टोकते हुए कहा कि यह उसके सवाल का जवाब नहीं है। मुख्यमंत्री जवाब के बदले भाषण दे रहे हैं। यह प्रश्नकाल है इस समय सरकार केवल जवाब दे। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सच बोल नहीं सकते तो कम से कम सच सुनने की आदत डाल लीजिए। बार-बार कह रहा हूं, सोनभद्र कांड का हत्यारा प्रधान सपा से जुड़ा है।
सपा के शतरुद्र प्रकाश ने सभापति से अपील की कि यह प्रश्नकाल है। इसमें सीएम भी प्रश्न से संबंधित जवाब ही दे सकते हैं। अगर उन्हें विस्तार से बोलना है तो हम धैर्य के साथ सुनेंगे, पर इसके लिए वे शून्य प्रहर तक रुकें। नेता प्रतिपक्ष अहमद हसन ने सीएम की बात का विरोध करते हुए कहा कि हत्यारा प्रधान भाजपा का सदस्य है। उसे सरकार का पूरा संरक्षण मिला हुआ है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here