28 C
Mumbai
Monday, September 26, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

वाराणसी श्वेता हत्या कांड: छात्रा को बाईं कनपटी पर मारी गोली, दाईं से हो गई पार।

रिपोर्ट-विपिन निगम

वाराणसी (यूपी): उत्तर प्रदेश के वाराणसी के सिगरा स्टेडियम के ठीक सामने स्थित अशोका होटल में सोमवार की सुबह 22 वर्षीय छात्रा श्वेता सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई। गोली श्वेता के बाईं कनपटी पर मारी गई। पास से मारी गई गोली दाईं कनपटी को छेदते हुए निकल गई। पुलिस ने हत्या के आरोप में होटल मालिक अमित को गिरफ्तार कर लाइसेंसी रिवाल्वर भी कब्जे में ले लिया है। अमित बुरी तरह नशे में है इसलिए हत्या का कारण नहीं पता चल सका है। जांच के लिए फोरेंसिक टीम भी बुलाई गई। टीम ने काफी साक्ष्य जुटाए हैं।
होटल के कर्मचारियों के अनुसार श्वेता और अमित की काफी पुरानी दोस्ती थी। श्वेता अक्सर होटल में आती थी। रविवार की रात करीब नौ बजे वह होटल में आई और कमरा नंबर 107 में रुकी हुई थी। भोर में करीब साढ़े चार बजे अमित काउंटर पर आया और अपना रिवाल्वर लेकर कमरे में चला गया। थोड़ी देर बाद गोली चलने की आवाज आई तो कर्मचारी दौड़ते हुए पहुंचे। श्वेता खून से लथपथ पड़ी थी। तत्काल घटना की जानकारी पुलिस को दी गई। स्थानीय पुलिस के अलावा एसएसपी आनंद कुलर्कणी भी पहुंचे।
पुलिसकर्मी पिता की तीन साल पहले डूबने से हुई थी मौत
मंडुवाडीह गेट नम्बर-3 निवासी श्वेता उर्फ लवलिका अक्सर होटल में आया करती थी। होटल मैनेजर जय प्रकाश मौर्या ने बताया कि मालिक की करीबी होने के कारण युवती बेरोकटोक आती जाती थी। मूल रूप से देवरिया निवासी श्वेता के पिता मनोज सिंह यूपी पुलिस में कांस्टेबल थे और प्रतापगढ़ में तैनात थे। तीन वर्ष पहले दशाश्वमेध घाट पर स्नान के दौरान उनकी डूबने से मौत हो गई थी। श्वेता की मां की भी मौत हो चुकी है। वह अपने दादा राम इकबाल सिंह के साथ रहती थी। श्वेता की बहन दीक्षा की शादी हो चुकी है और उसका छोटा भाई शिवम इंटर का छात्र है। परिजनों के अनुसार एक दिन पहले श्वेता विश्विद्यालय से सर्टिफिकेट लाने की बात कहकर घर से निकली थी मगर देर रात तक उसका पता नहीं चला।
मौके से मिला गोली का खोखा
घटना स्थल पर पहुंची फोरेंसिक टीम ने कमरे की तलाशी ली। खून से लथपथ पड़े बेड से भी कुछ जांच के नमूने लिए। मौके से गोली का एक खोखा भी बरामद हुआ। कमरे में शराब की बोतल भी मिली है। सीओ चेतगंज अंकिता सिंह ने भी घटना स्थल पर कर्मचारियों से बातचीत की। उन्होंने बताया कि अमित नशे में होने के कारण ठीक से बोल नहीं पा रहा है।
पहले से विवादों में होटल अशोक
सिगरा स्टेडियम के ठीक सामने बने होटल अशोक का विवादों से गहरा नाता रहा है। चार महीने पूर्व एक सिंधी व्यापारी के पुत्र का अपहरण कर इसी होटल के कमरे में कैद किया गया था। इसके पहले भी संचालक के परिवार में आपसी मतभेद से लम्बे समय तक होटल बन्द भी था।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here