28 C
Mumbai
Thursday, September 29, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

जम्‍मू-कश्‍मीर से 70 आतंकवादियों और पाकिस्तान समर्थक अलगाववादियों को किया गया आगरा स्थानांतरित ।

न्यूज डेस्क(उत्तर प्रदेश): जम्‍मू कश्‍मीर से लगभग 70 आतंकवादियों और कट्टर पाकिस्तान समर्थक अलगाववादियों को आगरा सेंट्रल जेल स्थानांतरित कर दिया गया है। विशेष विमान द्वारा सभी कैदियों को कड़ी सुरक्षा के बीच आगरा लाया गया। गुरुवार दोपहर जम्‍मू- कश्‍मीर से विशेष विमान द्वारा कैदियों को लेकर आगरा खेरिया एयरपोर्ट पर पहुंचा। एयरपोर्ट से सेंट्रल जेल तक कड़ी सुरक्षा के बीच कैदियों को लाया गया है।

अनुच्छेद 370 तथा 35ए हटाकर जम्मू-कश्मीर को दो भागों में बांटकर केंद्र शासित राज्य घोषित किए जाने के बाद सरगर्मियां भी तेजी से बढ़ रही हैं। घाटी में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों की तैनाती करने के बाद अब वहां जेलों में बंद कैदियों को दूसरे राज्यों में भेजा जा रहा है। पहली खेप में गुरुवार को 30 कैदियों को आगरा सेंट्रल जेल लाया गया। जहां अब कुल 70 कैदियों को यहां लाया गया। यहां उन्हें हाई सिक्योरिटी सेल में रखा जाएगा।

जम्मू-कश्मीर से बंदियों को उत्तर प्रदेश के अलावा कई अन्य बड़े राज्यों की जेलों में भी भेजा जायेगा। सूत्रों का कहना है कि केंद्र सरकार ने इसके लिए राज्य सरकार से सहमति मांगी थी। यूपी में और अधिक बंदियों को भी भेजे जाने की तैयारी थी। फिलहाल 70 कैदियों को ही लाया गया है। प्रदेश की जेलों में क्षमता से अधिक बंदियों के बंद होने के चलते दिक्कत है।

पहले चरण में आगरा स्थित सेंट्रल जेल में कड़ी सुरक्षा-व्यवस्था की गई है। जम्मू-कश्मीर से बंदियों को हवाई जहाज से आगरा लाया गया। आगरा हवाई अड्डे से सेंट्रल जेल के बीच पुलिस का कड़ा पहरा रहा। पुलिस-प्रशासन से लेकर खुफिया इकाईयां तक हाई अलर्ट मोड में थीं। उच्च स्तर पर सुरक्षा को लेकर कड़े निर्देश दिये गये थे।

तो इसीलिए पड़ा था जेल में छापा
सेंट्रल जेल में पिछले दिनों पुलिस-प्रशासन के अधिकारियों द्वारा छापा मारा गया था। वहां बैरकों की तलाशी लेने के साथ ही सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया था। माना जा रहा है कि यह सारी कवायद कैदियों को यहां भेजने से पहले का हिस्सा थी। जम्मू-कश्मीर के कैदियों को सुरक्षा के लिए पीएसी की प्लाटून बढ़ाने की तैयारी है। साथ ही पहले से बंद कुख्यातों की निगरानी भी बढ़ा दी गई है। शीर्ष स्तर पर उत्तर प्रदेश व जम्मू-कश्मीर के अधिकारी लगातार एक-दूसरे के संपर्क में हैं।

सेंट्रल जेल को मिलेंगे 50 बंदी रक्षक
केंद्रीय कारागार को 50 बंदी रक्षक और मिलेंगे। सरकार द्वारा प्रदेश की 25 संवदेनशील जेलों में बंदी रक्षकों की संख्या बढ़ाने का फैसला किया गया है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here