30 C
Mumbai
Wednesday, October 5, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

बड़ा एस्टेरॉयड फिर से धरती की ओर आ रहा है। नासा के वैज्ञानिकों ने जाहिर की चिंता।

रिपोर्ट- विपिन निगम

पृथ्वी पर रहे रहे इंसानों के साथ ही सभी जीव जंतुओं के लिए खतरे की घंटी बजी है। एक बड़ा एस्टेरॉयड फिर से धरती की ओर आ रहा है। नासा के वैज्ञानिक भी इस एस्टेरॉयड को लेकर काफी चिंतित नजर आ रहे हैं, क्योंकि ये एस्टोरॉयड नासा के सेटेलाइट्स के काफी करीब से गुजरेगा। खबर के अनुसार, वैज्ञानिकों ने इस एस्टेरॉयड का नाम 99942 Apophis रखा है।  रिपोर्टों के अनुसार, ये एफिल टॉवर से लंबा है। अगर 27bn किलोग्राम का एस्टेरॉयड पृथ्वी से टकराएगा तो वैज्ञानिकों ने गणना की कि यह एक मील चौड़ा और 518 मीटर से भी अधिक गहरा गड्ढा छोड़ देगा। इसका प्रभाव 880 मिलियन टन टीएनटी के बराबर होगा – हिरोशिमा पर गिराए गए परमाणु बम से 65,000 गुना शक्तिशाली।

एस्टेरॉयड का निकनेम ‘God of Chaos’  है-
ये एस्टेरॉयड इतना खतरनाक है वो इसके निकनेम से ही पता चल रहा है। इस एस्टेरॉयड का निकनेम ‘God of Chaos’ है। ये धरती के लिए संभावित खतरनाक साबित होने वाले एस्टेरॉयड ( Potentially Hazardous Asteroid-PHA) की श्रेणी में है। “महान नाम! इस विशेष चिंता की बात नहीं है, लेकिन एक बड़ी चट्टान पृथ्वी को अंततः मार देगी और वर्तमान में हमारे पास कोई रक्षा नहीं है, ”मस्क ने ट्वीट किया, नासा पर एक खबर का जवाब देते हुए Asteroid ‘God of Chaos’  की तैयारी कर रहा है।

बता दें कि 340 मीटर बड़ा Asteroid 99942 Apophis पृथ्वी की सतह के काफी करीब (19,000 मील) से गुजरने वाला है। 

 नासा ने 99942 Apophis के आने की तैयारी शुरू की –
ये एस्टेरॉयड अंतरिक्ष में स्थित नासा के कई संचार उपग्रहों के पास से होता हुआ निकलेगा। नासा ने 99942 Apophis के आने की तैयारी शुरू कर दी है। Apophis अब तक का सबसे बड़ा एस्टेरॉयड होगा जो पृथ्वी के इतने पास से गुजरने वाला है। अगर किसी वजह से ये पृथ्वी से टकरा जाता है तो इसके परिणाम भयावह हो जाएंगे। टकरा जाने से धरती पर भयंकर भूस्खलन और तूफान आ सकते हैं। तूफानों और भूस्खलनों की वजह से पूरी पृथ्वी का सर्वनाश हो सकता है। 

पृथ्वी तक आने में इतना कम समय- 
हालांकि अभी इस एस्टेरॉयड के धरती के पास आने में काफी समय है। वैज्ञानिकों के मुताबिक, इस एस्टेरॉयड को धरती के पास पहुंचने में करीब 10 साल लगेंगे। वहीं कुछ वैज्ञानिकों का मानना है कि पृथ्वी से इसके टकराने के चांसेस काफी कम हैं। वैज्ञानिकों का मानना है कि Apophis की गति और उसकी दिशा बदल जाएगी, लेकिन फिर भी ये पृथ्वी के पास से होकर गुजरेगा जिसका प्रभाव पृथ्वी पर ये होगा। धरती पर भूस्खल और तूफान जैसी स्थिति पैदा हो सकती है। 

और भी एस्टेरॉयड पृथ्वी की ओर बढ़ रहे-
बता दें कि Asteroid 2019 PK 18 अगस्त को ही पृथ्वी के बेहद करीब से गुजरा था। हालांकि इस एस्टेरॉयड से हमारी पृथ्वी को कोई खतरा नहीं हुआ, लेकिन अभी खतरा पूरी तरह से टला नहीं है, अभी 2019 OU1 और Asteroid 2018 PN22 हमारी पृथ्वी की ओर बढ़ रहे हैं। 

Spacetelescope.org की एक रिपोर्ट के अनुसार, 7 लाख से अधिक क्षुद्रग्रह हैं जो अंतरिक्ष में पाए गए हैं। इसमें आगे कहा गया है कि क्षुद्रग्रह मुख्य रूप से मंगल और बृहस्पति की कक्षाओं के बीच ‘मुख्य बेल्ट’ नामक क्षेत्र में पाए जाते हैं।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here