Manvadhikar Abhivyakti News
google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

महाराष्ट्र सरकार गठन – मुख्यमंत्री के नाम पर कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के बीच बनी सहमति

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0
google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

महाराष्ट्र में नई सरकार के गठन को लेकर कांग्रेस, शिवसेना और एनसीपी के नेताओं के बीच एक बैठक में तीनों दल ने मुख्यमंत्री के नाम पर सहमति जताई !

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

मुम्बई (महाराष्ट्र) – गुरुवार को हुई एक बैठक में कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के अंतर्गत कई मुद्दों पर चर्चा हुई। इस बैठक में तीनों पार्टियों के नेता मौजूद रहे। एनसीपी प्रमुख शरद पवार ने बुधवार को कॉमन मिनिमम प्रोग्राम के तहत मुद्दों पर चर्चा के लिए एक कमेटी गठित की थी। बैठक के बाद तीनों पार्टी के नेताओं ने पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि तीनों दल के नेताओं ने मुख्यमंत्री के नाम पर सहमति कर ली है और इसका मसौदा आलाकमान को भेज दिया गया है।

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

दूसरी ओर शिवसेना ने बृहस्पतिवार को आरोप लगाया कि महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लगाने की पटकथा पहले ही लिख दी गयी थी और उन्होंने राज्यपाल पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने अब पार्टियों को सरकार बनाने के लिए छह महीने का समय दे दिया है। पार्टी ने यह भी कहा कि राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस राष्ट्रपति शासन लगाए जाने पर मगरमच्छ के आंसू बहा रहे हैं क्योंकि सत्ता अब भी परोक्ष रूप से भाजपा के हाथ में ही है।

शिवसेना को सरकार बनाने का दावा जताने के लिए महज 24 घंटे का वक्त दिए जाने तथा अतिरिक्त समय दिए जाने से इनकार करने पर राज्यपाल की आलोचना करते हुए शिवसेना ने अपने मुखपत्र ‘सामना में संपादकीय में कहा कि ऐसा लग रहा है कि कोई अदृश्य शक्ति इस खेल को नियंत्रित कर रही है और उसके अनुसार फैसले लिए गए।

ज्ञात रहे कि राजनैतिक गतिरोध के बीच मंगलवार शाम महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन लागू हो गया था। 

सौ. पार्सटूडे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0