32 C
Mumbai
Wednesday, November 30, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

देश में पुन: प्रवेश ईस्ट इण्डिया ? न्यू इण्डिया के स्वरूप में ?? हाथरस ओर कूंच कर रहे राहुल और प्रियंका के साथ जो हुआ वो क्या ???

-रवि जी. निगम

सर्वोच्च संस्थानों से ‘मानवाधिकार अभिव्यक्ति’ का सवाल….

जब देश में वर्तमान मान्यनीय सांसद (लोकसभा) वो भी मुख्य विपक्षीदल का शीर्ष नेतृत्व सिपाहियों के हाथो पीटा जायेगा ? तो देश की समस्याओं पर प्रश्न कौन उठायेगा ? देश की गरीब, लाचार, बेरोजगार, कोरोना से कराहते और मरते हुए, रेप से मर रही मां, बहन, बेटियों की आवाज कौन उठायेगा ? उनके साथ हो रहे अत्याचारियों के आत्याचार पर विराम लगाने की मांग कौन उठायेगा ? उन्हे इंसाफ कौन दिलायेगा ? ये देश भक्त मीडिया जो रेप के15 दिनों के बाद मौंत हो जाने के पश्चात इंसाफ की आवाज उठाता है वो ? जो जनता से ज्यादा सरकार के क़सीदे पढती हो वो ? तो फिर समस्त विपक्षियों को इस्तीफा दे देना चाहिये कि नहीं ? जब देश में विपक्षियों की जरूरत है ही नहीं तो ऐसे पंगु विपक्ष का क्या फ़ायदा मीडिया है जो न ? यदि विपक्ष अपना दायित्व पूरी तरह से नहीं निभा सकता तो ऐसे विपक्ष का क्या काम ? और जब चंद लोग पत्रकारिता की आड में मीडिया हाऊस (पत्रकारिता नहीं) बनकर सरकार की जगह विपक्ष से सवाल पूंछने लग जाये और सवाल उठाये, और जनता की आवाज की जगह सरकार की आवाज बन जाये तो देश में ऐसे मीडिया हाऊस का क्या काम ? लेकिन जब दमनकारी सरकार विपक्ष के साथ पत्रकारों की भी आवाज दमन करने पर उतारू हो जाये तो देश के सर्वोच्च संस्थान ही बतायें कि क्या किया जाय ?

नोएडा : हाथरस गैंगरेप केस मामले पर पीड़ित परिवार से मिलने के लिए राहुल गांधी और प्रियंका वाड्रा आज हाथरस जा रहे थे. यमुना एक्सप्रेसवे पर जब पुलिस ने उन्हें रोका तो दोनों अपनी गाड़ियों से उतरकर पैदल ही हाथरस के लिए निकल पड़े. इस बीच एक निजी चैनल से राहुल वार्ता कर ही रहेे थे जिसमें पुलिस राहुल गांधी से धक्का मुक्की करते देेेखी जा सकती है और इसी धक्का-मुक्की में राहुल गाँधी जमीन पर गिर पड़े जिसके बाद उनकी सुरक्षा में लगे जवानों उन्हे उठाया. राहुल का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें धक्का दिया और लाठियों से मारा।

राहुल के हाथ में लगी चोट को निहारते बहन प्रियंका
यूं लाठी तानकर खडे हो गये योगी के सिपाही
ईस्ट इण्डिया / न्यू इण्डिया……?? एक कांग्रेसी को पीटने के लिये देखो कितने शेर लगे हैं!!!

राहुल का आरोप, मुझे ज़मीन पर फेंक दिया गया
राहुल गांधी ने मीडिया से बातचीत में कहा कि अभी-अभी पुलिस ने मुझे धक्का दिया, लाठी मारी और मुझे जमीन पर फेंक दिया. “उन्होंने कहा कि मैं पूछना चाहता हूं कि क्या इस देश में सिर्फ मोदी को पैदल चलने का अधिकार है… हमारे जैसे आम लोग पैदल नहीं चल सकते. हमारी गाडियां रोकी गई इसलिए हम पैदल चल रहे हैं।”

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here