कन्नौज (यूपी) बड़े भाई को डाक विभाग में नौकरी दिलवाने का झांसा देख साइबर क्रमिलन ने पुलिस लाइन में तैनात सिपाही से 84 हजार रुपये ठग लिए। जालसाजों ने पुलिस में नौकरी कर रहे छोटे भाई की नौकरी डाक विभाग में लगने का झांसा दिया, इसके बावजूद सिपाही उनकी बातें में आ गया। सिपाही ने फोन पर बातचीत करने वाले तीन लोगों के खिलाफ सदर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है। 
आगरा के बल्केश्वर थानाक्षेत्र के लोहिया नगर जसवंत सिंह की छतरी निवासी रोहित कुमार पुत्र गगन कुमार पुलिस में सिपाही हैं। पुलिस लाइन में तैनात रोहित की ड्यूटी कोविड-19 सेल में लगी है। 18 सितंबर 2020 को सिपाही को गुरदीप सिंह नाम के व्यक्ति ने फोन किया। खुद को नई दिल्ली में डाक विभाग का अधिकारी बताकर गुरदीप ने कहा कि 2017 में सिपाही के भाई ने डाक विभाग में जो फार्म डाला था, उसमें उसका चयन हो गया है। 
सिपाही ने भाई की नौकरी पुलिस में लग जाने की जानकारी दी तो फोन करने वाले ने कहा कि परिवार के दूसरे व्यक्ति को नौकरी मिल सकती है। सिपाही ने बड़े भाई योगेश की नौकरी की बात की। गुदीप के बाद आशीष दीपक और महेश गिरी ने भी सिपाही से बात की। इसके बाद कई बार में 84 हजार रुपये सिपाही से अलग-अलग खातों में डलवा लिए। 
बताए गए पते पर सिपाही दिल्ली पहुंचा तब ठगी की जानकारी हुई। सोमवार को सिपाही रोहित ने गुरदीप सिंह, आशीष दीपक और महेश गिरी के खिलाफ जालसाजी की रिपोर्ट दर्ज कराई। कोतवाल विकास राय ने बताया कि छानबीन की जा रही है। सिपाही को सजगता बरतनी चाहिए थी, पैसा खातों में डालने से पहले किसी से राय भी ले सकते थे।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *