त्योहारी सीजन में मशहूर ज्वेलरी ब्रांड तनिष्क ने ब्रांड प्रमोशन के लिए नया विज्ञापन जारी किया था, एक खूबसूरत विज्ञापन जिसमें हिन्दू-मुस्लिम प्रेम का एक सन्देश छिपा था, जिसमें बेटियों पर प्यार लुटाने का पैग़ाम था, जिसमें ससुराल और मायके का फ़र्क़ मिटाया गया था, जिसमें बहू के रूप में एक बेटी पर प्यार लुटाया गया था| मगर अफ़सोस पुरुष प्रधान समाज को यह अच्छा नहीं लगा कि एक बेटी खुश कैसे? दो समाज एक कैसे? और अंततः उसका दुखद अंत हो गया है।

इस विज्ञापन के चलते तनिष्क को परेशानियों का सामना करना पड़ा है। वीडियो पर छिड़े विवाद के चलते ज्वेलरी कंपनी को इस विज्ञापन को हटाना पड़ा है। वीडियो के पब्लिश होते इस पर लोगों की बुरी प्रतिक्रियाएं आने लगीं। तमाम सोशल प्लेटफार्म पर इसका विरोध होने शुरू हो गया था। लोगों ने इस विज्ञारन को लव जिहाद को बढ़ावा देने वाला बताया। विरोध बढ़ता दे तनिष्क ने अपने यू-ट्यूब चैनल से इस विज्ञापन को हटा दिया। इस विज्ञापन के समर्थन में भी कई लोग मुखर हुए। लेकिन इसके खिलाफ विरोध इतना ज्यादा होने लगा कि समर्थन करने वालों की एक न चली।

विज्ञापन को हटाते हुए तनिष्क ने बयान भी जारी किया है, बयान में कहा गया है कि एकत्वम कैंपेन में विभिन्न क्षेत्रों के लोगों का एक साथ आकर जश्न मनाने का विचार निहित है। इस वीडियो को लेकर गंभीर प्रतिक्रियाएं आई हैं। हम अनजाने में लोगों की भावनाओं को हुए नुकसान के लिए दुख प्रकट करते हैं और अपने विज्ञापन को वापस लेते हैं।

इस बीच एक तनिष्क स्टोर ने इस पर माफी मांगी है। गुजरात के कच्छ जिले के गांधीधाम में तनिष्क के एक शोरूम ने अपने गेट पर हाथ से लिखा एक माफीनामा चिपकाया है, जिसमें कंपनी के विवादास्पद विज्ञापन के लिए शोरूम ने हिंदू समुदाय के लोगों से माफी मांगी है। गुजराती भाषा में इस हस्तलिखित माफीनामे में टीवी विज्ञापन की आलोचना भी की गई है।

माफीनामे में लिखा गया है कि तनिष्क के शर्मनाक विज्ञापन के लिए हम कच्छ के हिंदू समुदाय के लोगों से माफी मांगते हैं।पुलिस के मुताबिक माफीनामा शोरूम के दरवाजे पर 12 अक्टूबर को चिपकाया गया था। अब इसे हटा लिया गया है।माफीनामे की तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल हो गईं हैं। शोरूम के प्रबंधक और स्थानीय पुलिस ने मीडिया में आई इन रिपोर्टों को खारिज किया कि तनिष्क के विज्ञापन से नाराज कुछ लोगों ने शोरूम पर हमला किया था।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *