कन्नौज ः  कलक्ट्रेट में आत्मदाह के लिए प्रेट्रोल लेकर पहुंचीं स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को सम?

कन्नौज (यूपी) नेकपुरखत्री गांव के स्वयं सहायता समूह की आठ महिलाओं से आवास दिलाने के एवज में रोजगार सेवक ने रुपये ले लिए। आवास न मिलने पर महिलाओं ने रुपये मांगे तो धमकाया, तीन बार अधिकारियों से शिकायत के बावजूद कार्रवाई नहीं हुई तो पेट्रोल और माचिस लेकर शुक्रवार को महिलाएं आत्मदाह के लिए कलक्ट्रेट पहुंच गईं। अतिरिक्त मजिस्ट्रेट ने जांच का आश्वासन देकर उन्हें शांत कराया।

जलालाबाद ब्लॉक की गोवर्धनी ग्राम पंचायत के मजरा नेकपुरखत्री की ज्योति कटियार भोले बाबा स्वयं सहायता समूह की संचालक हैं। सोमवार को ज्योति समूह की रीता, आरती, नन्हीं, गुड्डी देवी, राविंद्री आदि को लेकर आत्मदाह के लिए कलक्ट्रेट पहुंचीं। ज्योति और समूह की महिलाएं बोतलों में पेट्रोल और माचिस लिए थीं। महिलाओं के हाथ में पेट्रोल देखकर कलक्ट्रेट में ड्यूटी कर रहे होमगार्ड ने कोतवाल को सूचना दी। कोतवाल विकास राय कलक्ट्रेट पहुंचे और महिलाओं को कोतवाली ले गए। 
महिलाओं ने कोतवाल को बताया कि गांव की रोजगार सेवक राधिका कटियार ने समूह की आठ महिलाओं से प्रधानमंत्री आवास योजना से आवास दिलाने के लिए पांच-पांच हजार रुपये सुविधाशुल्क लिया था। सूची जारी हुई तो उसमें उन आठ महिलाओं का नाम नहीं था लेकिन रोजगार सेवक का नाम था। आरोप है कि रोजगार सेवक से महिलाओं ने रुपये मांगे तो उसने धमकाया। इसके बाद महिलाओं ने 28 सितंबर, 29 सितंबर, चार अक्तूबर को जिलाधिकारी व अन्य अधिकारियोें को शिकायत दी। हर बार जांच करवाकर कार्रवाई का आश्वासन देकर लौटा दिया गया। सुनवाई न होने से महिलाएं परेशान थीं। अतिरिक्त मजिस्ट्रेट हरीराम यादव ने रोजगार सेवक पर कार्रवाई का आश्वासन देकर महिलाओं को शांत कराया। 

डीएम राकेश कुमार मिश्र ने बताया कि मामला मेरी जानकारी में नहीं है। जांच डीडीओ को सौंप दी गई है। अगर रोजगार सेवक दोषी है और उसने समूह की महिलाओं से आवास के नाम पर रुपये लिए हैं तो उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *