30 C
Mumbai
Wednesday, October 5, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

WhatsApp ने भी भारत में अपनी पेमेंट सर्विस की शुरु, फैमिली या दोस्तों से चैट के अलावा पैसों का लेन-देन भी कर सकेंगे

अब फैमिली या दोस्तों से चैट करने के साथ आप उनके साथ पैसों का लेन-देन भी कर सकेंगे. सोशल मैसेजिंग ऐप WhatsApp ने शुक्रवार से भारत में अपनी पेमेंट सर्विस की शुरुआत कर दी है. यह मंजूरी नेशनल पेमेंट कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) ने दी है. वाट्सऐप 160 से अधिक बैंकों के ट्रांजैक्शन को सपोर्ट करेगा और इसने देश के पांच अग्रणी बैंकों आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी, एक्सिस बैंक, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और जियो पेमेंट्स बैंक के साथ साझेदारी किया है. वाट्सऐप के दावे के मुताबिक इस प्लेटफॉर्म के जरिए पेमेंट बहुत आसान होगा.

आइए जानते हैं कि इसका इस्तेमाल किस तरह करें.

इस तरह बनाएं WhatsApp Pay अकाउंट
वाट्सऐप की स्क्रीन पर दाहिनी तरफ ऊपर दिए गए तीन डॉट को टच करें.
एक Payment का विकल्प आएगा, उस पर जाएं और फिर Add Payment Method पर क्लिक करें.
जिस बैंक में आपका खाता है, उसे सेलेक्ट करें.
वेरिफिकेशन के लिए एसएमएस के जरिए वेरिफाई का विकल्प चुनें.
इसके बाद बैंक खाते से जुड़े मोबाइल नंबर पर एक कोड आएगा, उसे भरें और फिर आपका वेरिफिकेशन पूरा हो जाएगा. यह ध्यान रखें कि वाट्सऐप नंबर और बैंक खाते से जुड़ा हुआ नंबर एक ही हो.
वेरिफिकेशन पूरा होने के बाद यूपीआई पिन जेनेरेट करें. इसके लिए आपको एक मनचाहा नंबर भरना होगा और उसे दोबारा भरकर कंफर्म करना होगा.
पेमेंट अकाउंट बनने के बाद इस तरह करें लेन-देन
जिस शख्स को पैसे भेजने हैं, उसका चैट खोलें.
मैसेज बॉक्स में अटैचमेंट के निशान को टच करें.
इसके बाद Payment पर टैप करें और जितने पैसे भेजनें हो, उसे भरें.
इसके बाद यूपीआई पिन मांगने पर उसे भरें.
पेमेंट होने के बाद कंफर्मेशन मैसेज आ जाएगा.
सिर्फ 2 करोड यूजर्स कर सकेंगे इस्तेमाल

वाट्सऐप को अभी सिर्फ 2 करोड़ यूजर्स को यह फीचर उपलब्ध कराने की मंजूरी मिली है. वाट्सऐप के इस समय 40 करोड़ से अधिक यूजर्स है. इससे समझ सकते हैं कि शेष 38 करोड़ यूजर्स के लिए अभी यह फीचर उपलब्ध नहीं होगा. बाद में वाट्सऐप अपने यूपीआई यूजरबेस को चरणबद्ध तरीके से बढ़ा सकता है.

1 जनवरी से एक ऐप से 30% ही ट्रांजैक्शन
NPCI ने अगले साल 1 जनवरी से थर्ड पार्टी ऐप के लिए यूपीआई लेन-देन की सीमा तय कर दी है. 1 जनवरी 2021 से किसी एक थर्ड पार्टी ऐप से यूपीआई ट्रांजैक्शन का अधिकतम 30 फीसदी ही लेन-देन कर सकेंगे. इसे एक उदाहरण से समझ सकते हैं. कि अगर कुल 100 यूपीआई ट्रांजैक्शन हैं तो इसमें से वाट्सऐप, पेटीएम, गूगल पे या फोन पे पर एक महीने में 30 फीसदी यानी 30 ट्रांजैक्शन ही कर सकेंगे.

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here