नई दिल्ली : कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने एक बार फिर से पार्टी को लेकर विवादित बयान दिया है। आजाद ने कहा है कि देश की आजादी के बाद 7 दशक में पहली बार कांग्रेस पार्टी सबसे खराब स्थिति में है। इसके साथ ही कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में 5 सितारा होटल की संस्कृति है।

लोगों से डिस्कनेक्शन
आज़ाद ने कहा, “हमारे लोगों का ब्लॉक स्तर पर, जिला स्तर पर लोगों के साथ कनेक्शन टूट गया है। जब कोई पदाधिकारी हमारी पार्टी में बनता है तो वो लेटर पैड छाप देता है, विजिटिंग कार्ड बना देता है, वो समझता है बस मेरा काम ख़त्म हो गया, काम तो उस समय से शुरू होना चाहिए.”

कमजोर ढांचा
उन्होंने आगे कहा, “हमारा ढ़ांचा कमजोर है, हमें ढ़ांचा पहले खड़ा करना पड़ेगा। फिर उसमें कोई भी नेता हो चलेगा. सिर्फ नेता बदलने से आप कहेंगे कि पार्टी बदल जाएगी, बिहार आएगा, मध्य प्रदेश आएगा, उत्तर प्रदेश आएगा, नहीं वो सिस्टम से बदलेगा.”

5-स्टार संस्कृति
पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा, “5-स्टार से चुनाव नहीं लड़े जाते। हमारे नेताओं के साथ समस्या है कि अगर टिकट मिल गया तो 5-स्टार में जाकर बुक हो जाते हैं. एयर कंडीशनर गाड़ी के बिना नहीं जाएंगे, जहां कच्ची सड़क है वहां नहीं जाएंगे. जब तक ये कल्चर हम नहीं बदलेंगे, हम चुनाव नहीं जीत सकते.”

विद्रोह से इंकार
पार्टी के नेताओं पर कांग्रेस नेता गुलाम नबी ने असंतोष व्यक्त करते हुए कहा, “कांग्रेस पार्टी में कोई विद्रोह नहीं है. विद्रोह का अर्थ है किसी को प्रतिस्थापित करना. पार्टी अध्यक्ष पद के लिए कोई अन्य उम्मीदवार नहीं है. यह कोई विद्रोह नहीं है। यह सुधारों के लिए है.”

सिब्बल भी दे चुके हैं सुझाव
इससे पहले कपिल सिब्बल समेत कांग्रेस के 23 वरिष्ठ नेताओं ने पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी को पत्र लिखकर पार्टी को मजबूत करने के संबंध में सुझाव दिए थे. चौधरी ने कहा, ‘‘वह (सिब्बल) कांग्रेस और आत्मविश्लेषण की जरूरत को लेकर बहुत चिंतित प्रतीत होते हैं.