नई दिल्ली : नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों का आंदोलन जारी है। कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने मंगलवार को किसान संगठनों के नेताओं को बातचीत के लिए बुलाया था। केंद्रीय मंत्रियों के साथ बैठक के बाद किसान नेता चंदा सिंह ने कहा कि हमारा आंदोलन जारी रहेगा। हम सरकार से निश्चित रूप से कुछ लेकर रहेंगे, चाहे गोली लेंगे या शांतिपूर्ण समाधान। हम और ज्यादा चर्चा के लिए दोबारा आएंगे।’

कृषि मंत्री बैठक से खुश
वहीं, कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा, ‘हमारी बैठक अच्छी रही, हमने फैसला किया है कि 3 दिसंबर को बातचीत होगी। हम चाहते थे किसानों के द्वारा एक छोटा ग्रुप बनाया जाए, लेकिन किसान नेता चाहते थे कि हर किसी के साथ बातचीत हो। हमें इससे कोई दिक्कत नहीं है।’

चार घंटे चली बातचीत
बता दें कि लंबे घमासान के बीच केंद्र सरकार और किसानों के बीच करीब चार घंटे तक चली ये बैठक बेनतीजा रही। दिल्ली के विज्ञान भवन में हुई इस बातचीत में कोई फैसला नहीं निकलने के बाद अब अगली बैठक 3 दिसंबर को दोपहर 12 बजे होगी। आज की बैठक को कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने अच्छा बताया। उन्होंने कहा कि किसानों के साथ बातचीत अच्छी रही। हमने 3 दिसंबर को फिर से बातचीत करने का फैसला लिया है।

सरकार ने की छोटे संगठन बनाने की बात
नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि हम चाहते हैं कि छोटे संगठन बनें, लेकिन किसान नेता की मांग है कि हर किसान से बातचीत होनी चाहिए। कृषि मंत्री ने कहा कि हमें हरेक किसान से बात करने में कोई परेशानी नहीं है। नरेंद्र सिंह तोमर ने साथ ही किसानों से आंदोलन खत्म करने की मांग की।