कोलकाता – पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने बागी नेताओं पर हमला बोला। टीएमसी के कई विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। शुभेंदु अधिकारी, बनश्री मैती और शीलभद्र दत्ता सहित कई एमएलए इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गए।

सड़े हुए तत्व
तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी ने पार्टी बैठक में कहा कि यह अच्छा है कि सड़े हुए तत्व अपने आप निकल रहे हैं। उन्होंने पार्टी छोड़कर जाने वाले नेताओं को पार्टी के लिए भार बताया। बनर्जी ने स्थिति का जायजा लेने के लिए अपने आवास पर चुनिंदा नेताओं के साथ एक आंतरिक बैठक की।

पार्टी छोड़ने के बारे में चिंतित न हों नेता
पार्टी सूत्रों के अनुसार, बनर्जी ने तृणमूल नेताओं से कहा कि वे इससे चिंतित न हों क्योंकि राज्य के लोग उनके साथ हैं। तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, “बैठक के दौरान हमारी पार्टी की सुप्रीमो ने हमें कहा कि वे नेताओं के पार्टी छोड़ने के बारे में चिंतित न हों क्योंकि यह अच्छा है कि सड़े हुए तत्व पार्टी छोड़ रहे हैं।’’

48 घंटे में तृणमूल को चौथा झटका
तृणमूल कांग्रेस की विधायक बनश्री मैती ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। पिछले 48 घंटे में तृणमूल को यह चौथा झटका लगा है। पश्चिम बंगाल के कंथी उत्तर निर्वाचन क्षेत्र से दो बार की विधायक मैती ने कहा कि उन्होंने तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी को ई-मेल से अपना इस्तीफा भेज दिया है। वह भाजपा में शामिल हो गईं। मैती ने अपने पत्र में कहा, ‘‘मैं तृणमूल कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता से अपना इस्तीफा दे रही हूं।’’ पूर्वी मिदनापुर जिले में तृणमूल कांग्रेस की वरिष्ठ नेता को शुभेंदु अधिकारी का करीबी माना जाता है।