कोलकाता: मंगलवार को प. बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विश्व भारती यूनिवर्सिटी के माध्यम से सांप्रदायिक राजनीति करने पर भारतीय जनता पार्टी को आडे हाँथों लिया है। बोलपुर में एक रैली को ममता ने संबोधित करते हुए कहा, “आप कुछ विधायक खरीद सकते हैं, मगर आप टीएमसी को नहीं खरीद सकते।”

दरअसल मामला कुछ यूँ है कि, राज्य में अगले साल विधानसभा चुनाव होने हैं सभी राजनीतिक पार्टियां ऐसे में एक दूसरे पर वार-पलटवार करने में लगी हुई है। इस बार टीएमसी और बीजेपी मुख्यरूप से चुनावी मैदान में है। वहीं, कई टीएमसी के दिग्गजों ने पार्टी का दामन छोड़कर कमल का दामन थाम लिया है। इसमें मुख्यरूप पार्टी के कद्दावर नेता शुभेंदु अधिकारी और जितेंद्र तिवारी हैं।

ममता ने अपने संबोधन में बीजेपी पर निशाना बंगाल आने को लेकर भी साधा। उन्होंने कहा, अब हर हफ्ते बीजेपी वाले आते हैं, खाना फाइव स्टार वाला खाते हैं और वहीं ऐसा दिखाते हैं कि खाना आदिवासी के साथ खा रहे हैं। सीएम ममता ने प्रधानमत्री मोदी और उनके वेश-भूषा पर भी तंज कसा। ममता ने कहा कि, किसी ने तो नया रूप धारण कर लिया है। कभी वो गांधी बनना चाहते हैं, तो कभी टैगोर का रूप में दिखना चाहते हैं।

बीजेपी के लोग बंगाल में केंद्रीय एजेंसी और पैसों का इस्तेमाल कर घुसना चाहते हैं। बंगाल सीएम ममता बनर्जी ने चुनौती देते हुए कहा कि बीजेपी पहले 30 सीटें तो जीत कर दिखाए, बाद में 294 का सपना देखे। उन्होंने कहा, “बीजेपी के नेता दिल्ली से तो आते हैं, लेकिन जिन्हें गुरुदेव के बारे में कुछ भी पता नहीं है।”