तहसील परिसर में धरने पर बैठीं कांशीराम कालोनी की महिलाएं।

तहसील परिसर में धरने पर बैठीं कांशीराम कालोनी की महिलाएं-फोटो:MA

छिबरामऊ(कन्नौज) छह दिन से अंधेरे में रात काट रहे कांशीराम कालोनी के लोगों ने गुरुवार को तहसील का घेराव किया। भीड़ देेख पुलिस बुला ली गई। खराब मीटर बदलवाने, बकाया बिलों का कम से कम में समायोजन कराकर किस्त बांधने का आश्वासन देकर सभी को शांत कराया गया।कांशीराम कालोनी के 52 ब्लाकों में लगभग 11 सौ परिवार निवास कर रहे हैं। बकाया बिल के चलते बिजली विभाग ने पिछले सप्ताह ट्रांसफार्मर से केबल कटवाकर कालोनी की बिजली गुल कर दी थी। तभी से इनमें नाराजगी चल रही है। गुरुवार को महिलाएं व पुरुष नारेबाजी करते हुए तहसील पहुंचे। पुलिस कर्मियों ने इन्हें समझा-बुझाकर शांत किया। बाद में एसडीएम देवेश कुमार गुप्ता की अनुपस्थिति में तहसीलदार अभिमन्यु कुमार ने जेई अजय अवस्थी को बुलाकर समस्या की जानकारी ली। जेई ने बताया कि नियमित बिल जमा न करने से कालोनी के लोगों पर लाखों का बिल बकाया है। कम से कम में समायोजन कर किस्त में बिल जमा करने की सहूलियत दी जा सकती है। खराब मीटरों को भी बदलवा दिया जाएगा। वार्ता के बाद कालोनी के लोगों का गुस्सा शांत हुआ। प्रदर्शन के दौरान सोनम, राजरानी, गीता देवी, सुनीता, रेशमा, रानी, सलमा, जमीर फातिमा, सन्नो, कमला, कांती, नफीसा, नजमा, लक्ष्मी, रूबी, कमरुन निशा, गुड्डी, गीता देवी सहित कई युवक मौजूद रहे।
माफ किया जाए लॉकडाउन के दौरान का बिल
भाजपा सभासद अतुल वर्मा ने तहसीलदार अभिमन्यु कुमार को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि कांशीराम कालोनी के लोग बेहद गरीब हैं। लॉकडाउन के दौरान का बिजली बिल माफ कर कुछ राहत प्रदान की जाय। उन्होंने लाखों के बकाया के लिए बिजली विभाग को ही दोषी बताया। कहा कि लोगों की आर्थिक स्थिति को देखते हुए उनकी सहूलियत के अनुसार बिल वसूल किया जाए। 
जो सक्षम हैं, वह जमा करें बिल
जेई अजय अवस्थी ने कहा कि कालोनी में कई लोग कारखाने लगाकर मशीनें चलाते हैं। अधिकांश घरों में टीवी, फ्रिज, वाशिंग मशीन सहित कई इलेक्ट्रानिक उपकरण हैं। कालोनी में सबसे ज्यादा बिजली खपत होती है। जो लोग सक्षम हैं, वह बिल जमा करना शुरू करें। शेष लोगों को आसान किस्तों में बिल जमा करने की सहूलियत दी जाएगी। शासन की मंशा के अनुरूप बिल जमा न होने तक सप्लाई शुरू नहीं कराई जा सकती।