फर्रुखाबाद (यूपी) जिले में वस्त्र पार्क बनाने के लिए केंद्र की मंजूरी मिल गई है। यह निर्णय लिया गया है इस परियोजना का सारा काम स्पेशल परपज व्हीकल (एसपीवी) करेगा। इसकी शासन स्तर पर भी सहमति भी मिल गई है। परियोजना के लिए केंद्र से 25 करोड़ रुपए मिलेंगे।

फर्रुखाबाद के खिनसेपुर गांव में इस परियोजना की लॉन्चिंग की जाएगी। इसके लिए 188 एकड़ जमीन चिह्नित कर ली गई है। केंद्र से इस परियोजना के लिए हरी झंडी मिलने के साथ ही उत्तर प्रदेश राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण (यूपीसीडा) ने अपनी तरफ से तैयारी जोर-शोर से शुरू कर दी है। अब डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की जाएगी। इसके लिए कंसल्टेंट की नियुक्ति की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। खिनसेपुर में जो जमीन चिह्नित की गई है उसमें ज्यादातर सरकारी है इसलिए इसकी लॉन्चिंग में कोई दिक्कत नहीं आएगी। अब इसका लेआउट प्लान तैयार किया जाएगा जिससे यह पता चल सकेगा कि भूखंडों की संख्या कितनी पहुंच सकती है। फिलहाल यह आकलन है कि वस्त्र बनाने के कम से कम 300 कारखाने स्थापित होंगे। इसके लिए उद्यमियों को ऑफर दिए जाएंगे

रूमा को वस्त्र सेक्टर घोषित करने की प्रक्रिया शुरू
कानपुर के रूमा औद्योगिक क्षेत्र को वस्त्र सेक्टर घोषित करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। केंद्र की क्लस्टर डेवलपमेंट स्कीम में उन औद्योगिक क्षेत्रों को रखा गया है जिनमें एक ही प्रकार की कम से कम 30 फैक्ट्रियां हों। रूमा में टेक्सटाइल की इससे अधिक फैक्ट्रियां हैं। यूपीसीडा के सीईओ ने संयुक्त सर्वे करने के लिए टीम गठित कर दी है। टीम यह बताएगी कि इस क्लस्टर में क्या-क्या विकास कार्य किए जा सकते हैं। डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करके केंद्र को प्रस्ताव भेजा जाएगा।

हजारों लोगों को मिलेगा रोजगार
फर्रुखाबाद में वस्त्र पार्क बनाने के लिए केंद्र से हरी झंडी मिल गई है। अब डीपीआर के साथ ही स्पेशल परपज व्हीकल तैयार किया जाएगा। इसके बाद केंद्र से धनराशि के लिए प्रस्ताव भेजा जाएगा। इस पार्क से हजारों लोगों को प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार मिलेगा।