लखनऊ में शराब के ठेके पर शराब खरीदती महिलाएं।

लखनऊ (यूपी) लखनऊ में शराब पीने का चलन बढ़ रहा है। शहर की कई शराब की दुकानों पर महिलाएं बेझिझक शराब खरीदते दिख जाएंगी। एकबारगी आप चौंकेंगे जरूर। पर नए किस्म का फैशन और नए तनाव ने महिलाओं को शराब का दीवाना बना दिया है। राजधानी लखनऊ में फैजाबाद रोड, बाराबंकी, रायबरेली रोड, कानपुर और वह तमाम नई कालोनियों में खुले शराब की तमाम दुकानों पर शाम होते ही लड़कियां,महिलाएं, छात्राएं शराब खरीदते नजर आती हैं।

शराब बिक्री के आंकड़े पर गौर करें तो कोरोना काल के बावजूद वर्ष 2020 में जहां अंग्रेजी शराब की करीब 75.85 लाख बोतल बिकी। वहीं, बियर के करीब डेढ़ करोड़ कैन बिक गए। जाहिर है, कोरोना के खौफ के बावजूद शराब बिकती रही।

शराब दुकान संचालक रोहित का कहना है कि, हमारे यहां दस ग्राहकों में चार महिलाएं होती है। इनमे कामकाजी महिलाएं या फिर कॉलेज गर्ल है। अब महिलाएं शॉपिंग मॉल में शराब खरीदने में जरा सा भी संकोच नहीं करती हैं। एक बड़े रेस्टोरेंट में बार टेंडर अमन कहते है कि, लखनऊ में बड़ी संख्या में महिलाएं शराब की शौकीन हैं। अधिकांश महिलाएं वोदका, वाइन या बियर पसंद करती है। वोदका की डिमांड सबसे अधिक रहती है। लगातार इसमे इजाफा हो रहा है।

मनोवैज्ञानिकों का कहना है कि, कोरोना की वजह से हुई लम्बी बंदी के बाद अब जब सब लोग बाहर निकल रहे है। तो हर पल को इंजॉय करना चाहते हैं। यही वजह की पार्टियां और दोस्तों के बीच महिलाओं और कॉलेज की लड़कियों में शराब पीने का चलन बढ़ रहा है।

शराब दुकानदार एसोसिएशन महामंत्री कन्हैया लाल ने कहाकि, वोदका और वाइन की डिमांड बढ़ रही है। ग्राहकों में महिलाएं भी बढ़ रही हैं। आबकारी अफसर प्रवीण कुमार ने बताया कि, कोरोना के शुरुआती दौर के बाद से शराब की बिक्री लगातार रफ्तार पकड़ रही।