बीसीसीआई, एशिया कप टूर्नामेंट से भारत अपना नाम वापस ले सकता है

नई दिल्ली : बीसीसीआई का एशिया कप को लेकर मंथन, दुनिया भर में फैली महामारी कोरोना वायरस के चलते साल 2020 में होने वाले कई बड़े क्रिकेट टूर्नामेंट को स्थगित करना पड़ा था, जिसमें एशियाई टीमों के बीच खेला जाने वाला एशिया कप भी शामिल है। इस टूर्नामेंट की मेजबानी पाकिस्तान के पास थी लेकिन महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए इसे साल 2021 तक स्थगित करने का फैसला लिया गया और साथ ही इसकी मेजबानी पाकिस्तान के बजाय श्रीलंका को सौंप दी गई। हालांकि अब खबरें आ रही हैं कि 2021 में मई के महीने में खेले जाने वाले इस टूर्नामेंट से भारत अपना नाम वापस ले सकता है।

दरअसल आईसीसी की ओर से टेस्ट क्रिकेट के प्रति लोकप्रियता को बढ़ाने के इरादे से आयोजित किया जा रहा आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का फाइनल मैच भी उसी समय खेला जाना है जिस समय के लिये एशिया कप (Asia Cup) 2021 प्रस्तावित किया है, जिसको देखते हुए भारत एशिया कप (Asia Cup) से नाम वापस लेने की तैयारी कर रहा है।

“MA news” app डाऊनलोड करें और 4 IN 1 का मजा उठायें  + Facebook + Twitter + YouTube.

Download now

मौजूदा समय में इस प्रतियोगिता के फाइनल में पहुंचने वाली टीमों में भारत, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड की टीमें ही सबसे बड़ी दावेदार हैं, जिसे देखते हुए बीसीसीआई एशिया कप (Asia Cup) के बजाय आईसीसी के इस टूर्नामेंट में खेलने को प्राथमिकता दे रहा है।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें 

गौरतलब है कि इस बात को लेकर भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की है लेकिन अगर भारतीय टीम विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में जगह बनाने में कामयाब होता है तो वह उस समय किसी होम सीरीज का आयोजन करा सकता है जिससे प्रसारणकर्ताओं को फायदा मिले।

मानवाधिकार अभिव्यक्ति न्यूज की चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

रिपोर्टस की मानें तो बीसीसीआई इस दौरान न्यूजीलैंड, दक्षिण अफ्रीका या श्रीलंका में से किसी एक टीम को भारत दौरे पर बुला सकता है। सूत्रों की मानें तो एशिया कप (Asia Cup) को रिशेड्यूल किया गया है जिसे नये टाइम टेबल के हिसाब से आईसीसी वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल के समय कराया जा सकता है, हालांकि अभी पूरी पिक्चर साफ नहीं है।