किसान रैली ITO चौराहे पर किसानों का कब्जा

किसानों ने सड़कों के किनारे लगे लोहे के रेलिंग्स तोड़ दिए हैं और आगे बढ़ने की कोशिश कर रहे हैं. किसान रैली, नांगलोई में बीते क़रीब एक घंटे से किसानों को इस बात का इंतज़ार था कि पुलिस उन्हें दिल्ली की तरफ़ बढ़ने का रास्ता देगी. लेकिन पुलिस ने उनसे कहा कि उन्हें रैली के तय रूट पर ही आगे बढ़ना होगा.नांगलोई से किसानों को दाहिने मुड़ कर लौटना था. लेकिन पुलिस के जवाब के बाद किसानों के एक समूह ने बैरिकेड्स तोड़ कर आगे बढ़ने की कोशिश की.

मानवाधिकार अभिव्यक्ति न्यूज की चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

वहीं मौजूद “कुछ किसानों ने अपने ट्रैक्टर मोड़ दिए थे लेकिन बड़ी संख्या में किसानों ने मुड़ने की बजाय दिल्ली की तरफ़ आगे बढ़ने का फ़ैसला किया.””यहां किसानों को रोकने के लिए पुलिसबल ने सड़क पर बड़े ट्रकों को खड़ा कर दिया है. आंसू गैस के गोले छोड़ने वाले वाहनों पर भी पुलिस के जवान तैनात हैं.”

सिंघु बॉर्डर से आ रहे किसानों और पुलिस के बीच गहमा-गहमी का माहौल

किसान रैली, मधुबन चौक पर सिंघु बॉर्डर की ओर से आ रहे नौजवान किसानों के समूह ने बैरिकेड तोड़ने की कोशिश की जिसके जवाब में पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े. इसके बाद ये किसानों का पुलिस के वाहनों पर चढ़ गए और पुलिस की वॉटर कैनन की गाड़ी को काबू में कर लिया. वहीं दूसरी ओर बुज़ुर्ग किसान नौजवान किसानों को शांत करने में जुटे रहे.

“MA news” app डाऊनलोड करें और 4 IN 1 का मजा उठायें  + Facebook + Twitter + YouTube.

Download now

यहां किसानों और पुलिस के बीच माहौल काफ़ी गर्म है. प्रगति मैदान तक पहुंचे किसान

किसान रैली, समाचार एजेंसी के अनुसार गाज़ीपुर बॉर्डर से चले किसान अब दिल्ली के प्रगति मैदान के पास पहुंच चुके हैं

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें 

अक्षरधाम के पास दिल्ली की तरफ़ बढ़ रहे किसानों को रोक रही है पुलिस

अक्षरधाम के पास दिल्ली की तरफ़ बढ़ रहे किसानों को रोक रही है पुलिस.