28 C
Mumbai
Thursday, September 29, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

किसान नेताओं का आरोप सरकार की साजिश के तहत किसान आंदोलन को खत्म करने की कोशिश, राकेस टिकैत सहित कई पर मामला दर्ज

नई दिल्ली: किसान नेताओं ने आरोप लगाया कि सरकार की साजिश के तहत किसान आंदोलन को खत्म करने की कोशिश, दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को राजधानी में हुई हिंसा के मामले में 22 एफआईआर दर्ज की है। पुलिस की तरफ से कई किसान नेताओं के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। इनमें नेताओं में दर्शन पाल, राजिंदर सिंह, बलबीर सिंह राजेवाल, बूटा सिंह बुर्जगिल और जोगिंदर सिंह उग्रा के नाम है।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

सरकार पर साजिश का आरोप

एफआईआर में में बीकेयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत और स्वाराज इंडिया के योगेंद्र यादव का भी नाम है। संयुक्त किसान मोर्चा ने किसान मजदूर संघर्ष समिति पर साजिश का आरोप लगाया है। एसकेएम ने कहा कि दीप सिद्धू जैसे असामाजिक तत्वों और केएमएसएस ने साजिश के तहत किसान आंदोलन को खत्म करने की कोशिश की।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

किसान मोर्चा की आपात बैठक
बलबीर सिंह राजेवाल की अध्यक्षता में एक किसान मोर्चा ने आपात बैठक की तथा दिल्ली में हुई हिंसक घटनाओं पर चर्चा की जिसमें निष्कर्ष निकाला कि केंद्र सरकार इस किसान आंदोलन से बुरी तरह हिल गई है। इसलिए, किसान मजदूर संघर्ष समिति और अन्य किसान संगठनों के शांतिपूर्ण विरोध के खिलाफ एक गंदी साजिश रची गई।

जारी किया बयान
संयुक्त किसान मोर्चा की आपात बैठक के बाद जारी एक बयान में कहा गया कि किसान आंदोलन की शुरुआत के 15 दिनों के बाद अपना विरोध स्थल स्थापित किया था, वे संयुक्त रूप से प्रदर्शन करने वाले संगठनों का हिस्सा नहीं थे। जब किसान संगठनों ने 26 जनवरी को किसान परेड का कार्यक्रम घोषित किया, तो दीप सिद्धू जैसे दूसरे असामाजिक तत्वों ने दूसरे किसान संगठन के साथ मिलकर किसानों के आंदोलन को विफल करने का प्रयास किया।

“MA news” app डाऊनलोड करें और 4 IN 1 का मजा उठायें  + Facebook + Twitter + YouTube.

Download now

लाल क़िले पर हुआ था उपद्रव
ग़ौरतलब है कि ट्रैक्टर परेड के दौरान प्रदर्शनकारी किसान मंगलवार को दोपहर में लाल किले में घुस गए थे। सैकड़ों किसान प्राचीर तक पहुंच गए और यहां ठीक उस जगह पर दो झंडे लगा दिए, जहां हर साल 15 अगस्त पर प्रधानमंत्री तिरंगा फहराते हैं। संस्कृति और पर्यटन मंत्री ने भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के अधिकारियों के साथ लाल किले का निरीक्षण किया। उन्होंने गृह मंत्रालय को रिपोर्ट जल्द से जल्द सौंपने के निर्देश दिए हैं।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here