नई दिल्ली: समाजसेवी अन्‍ना हजारे ने कृषि कानूनों के खिलाफ अपना प्रस्‍तावित अनशन को अब नहीं करने का फैसला किया है. अन्ना हजारे ने खुद, महाराष्‍ट्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री देवेंद फडणवीस की मौजूदगी में ऐलान किया है. यही नहीं, अन्‍ना ने किसानों के हित में सरकार की ओर से उठाए गए कदमों को समर्थन किया है. गौरतलब है कि कृषि कानूनों के खिलाफ वे शनिवार से अनशन करने वाले थे.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

अन्ना हजारे पहले रालेगण सिद्धि से करने वाले थे अनशन

गौरतलब है कि इससे पहले अन्‍ना ने कहा था कि केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ वे महाराष्‍ट्र के अपने गांव रालेगण सिद्धि में अनशन शुरू करेंगे.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

उन्‍होंने एक बयान में कहा था कि मैं कृषि क्षेत्रों में सुरक्षा की मांग करता रहा हूं लेकिन ऐसा लगता हैं कि केंद्र सरकार किसानों से जुड़े मसलों को लेकर संवेदनशील नहीं है. उन्‍होंने अपने समर्थकों से यह भी अपील की थी कि कोरोना महामारी के चलते वे उनके मांग में एकत्रित नहीं हों.

“MA news” app डाऊनलोड करें और 4 IN 1 का मजा उठायें  + Facebook + Twitter + YouTube.

Download now