बंगाल में बंगालियों का शासन होगा, न कि गुजरातियों का शासन !

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

कोलकाता: पश्चिम बंगाल में चुनावी सरगर्मियां चरम पर हैं, राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamta Bannerjee) ने बुधवार को भाजपा नेताओं पर “देवताओं के रूप में” रथों पर यात्रा करने को लेकर तंज कसा साथ ही ममता आरोप लगाया कि बीजेपी का राजनीतिक एजेंडा धर्म के आधार पर समाज में विभाजन पैदा करना है। बनर्जी ने दावा किया “बंगाल पर राज्य के लोगों का शासन होगा, न कि गुजरात से आने वाले लोगों का।”

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

झूठ का सहारा ले रही है भाजपा
उन्होंने भाजपा पर हिंदू धर्म के बारे में झूठ का सहारा लेने का भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा, “रथ यात्रा एक धार्मिक त्योहार है। हम सभी ने इस त्योहार में भाग लिया है। हम भगवान जगन्नाथ, बलराम और देवी सुभद्रा को उन रथों में यात्रा करते हुए देखते हैं।

देवता के रूप में रथों पर यात्रा कर रहे भाजपा नेता
“लेकिन भाजपा के नेता इस राजनीतिक रथ यात्रा का उपयोग अपने राजनीतिक उद्देश्यों के लिए कर रहे हैं ताकि समाज को विभाजित किया जा सके और एक दूसरे के खिलाफ गड्ढा किया जा सके। भाजपा नेता रथों पर यात्रा कर रहे हैं मानो वे देवता हैं।”

“MA news” app डाऊनलोड करें और 4 IN 1 का मजा उठायें  + Facebook + Twitter + YouTube.

MA news Logo 1 MANVADHIKAR ABHIVYAKTI NEWS

Download now

बाहरी लोगों को ला रही है भाजपा
अपने आरोप को दोहराते हुए उन्होंने कहा कि अप्रैल-मई में होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए बीजेपी राज्य में बाहरी लोगों को ला रही है। ममता बनर्जी ने दावा किया कि वे जो भी करते हैं वह स्थानीय लोगों के घरों में फोटो खिंचाने के लिए करते हैं। उन्होंने कहा, “कुछ बाहरी लोग लग्जरी कारों में आ रहे हैं और फोटो सेशन में लिप्त होकर दिखा रहे हैं कि वे ग्रामीणों के घरों में भोजन कर रहे हैं।” उन्होंने कहा कि भोजन पांच सितारा होटलों से लाया जाता है। बनर्जी ने दावा किया “बंगाल पर राज्य के लोगों का शासन होगा, न कि गुजरात से आने वाले लोगों का।”