श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के तीन पूर्व मुख्यमंत्रियों फारूख अब्दुल्लाह, उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ़्ती को एक बार फिर नज़रबंद कर दिया गया है| नज़रबंदी की बात को उमर अब्दुल्ला ने अपने ट्वीट के माध्यम से बताया है। इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री और PDP प्रमुख महबूबा मुफ्ती को कल पुलवामा जाने की इजाजत नहीं दी गई और वे भी नजरबन्द हैं।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

उमर अब्दुल्ला
नेशनल कॉन्फ्रेंस के उपाध्यक्ष उमर अब्दुल्ला ने ट्वीट किया कि, “यह अगस्त 2019 के बाद का नया जम्मू-कश्मीर’ है। बिना कुछ बताए हमें अपने घरों में बंद कर दिया गया है। यह बहुत बुरी बात है कि उन्होंने मेरे सांसद पिता और मुझे अपने ही घर में कैद कर दिया गया है। इसी तरह मेरी बहन और उनके बच्चों को उन्हीं के घर में बंद कर रखा गया है। “

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

महबूबा मुफ्ती का दावा
गौरतलब है कि बीते शनिवार को पीडीपी अध्यक्ष और जम्मू कश्मीर की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने दावा किया था कि पिछले वर्ष दिसंबर में यहां के पारिमपोरा इलाके में कथित मुठभेड़ में मारे गए तीन आतंकवादियों में से एक अतहर मुश्ताक के परिजन से मिलने जाने से पहले उन्हें नजरबंद कर दिया गया है।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें