नई दिल्ली: किसानों के विरोध से संबंधित ‘टूलकिट’ शेयर करने के आरोप में दिल्ली पुलिस साइबर सेल ने 21 साल की क्लाइमेट एक्टीविस्ट दिशा रवि को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया है। दिशा ‘फ्राइडे फॉर फ्यूचर ’अभियान के संस्थापकों में से एक हैं और उन्होंने कथित रूप से टूलकिट को बनाकर इसे सोशल मीडिया पर आगे बढ़ाया था। उसे शनिवार को बेंगलुरु के सोलादेवनहल्ली इलाके में उसके घर से गिरफ्तार किया गया। इसी टूलकिट को स्वीडन की क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने भारत में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में ट्वीट किया था जिसके बाद काफी हंगामा मचा था और भारत सरकार ने भी आधिकारिक रूप से आपत्ति दर्ज की थी|

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

4 फरवरी को पहली रिपोर्ट हुई थी दर्ज
बता दें कि दिल्ली पुलिस ने टूलकिट बनाने वालों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धार 124-ए, 120-ए और 153-ए के तहत राजद्रोह, आपराधिक षडयंत्र और समूहों के बीच घृणा को बढ़ावा देने के आरोप में 4 फरवरी को पहली रिपोर्ट दर्ज की थी। जिसे क्लाइमेट एक्टीविस्ट ग्रेटा थुबर्ग ने अपने ट्वीटर के माध्यम से शेयर किया था।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

ग्रेटा थनबर्ग ने किया था ट्वीट
पुलिस के अनुसार स्वीडन की क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग ने भारत में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन के लिए एक ‘टूलकिट’ (गूगल डॉक्युमेंट) ट्विटर पर शेयर किया था, हालांकि बाद में उन्होंने वो ट्वीट ‘पुराना टूलकिट’ बताते हुए डिलीट कर लिया था। बाद में ग्रेटा ने अपडेटेड टूलकिट भी ट्वीट किया। यह दस्तावेज गूगल डॉक के जरिए अपलोड किया गया और बाद में ट्विटर पर साझा किया गया। पुलिस ने कहा कि ट्रैक्टर की रैली के दौरान 26 जनवरी की हिंसा सहित किसान विरोध प्रदर्शन में घटनाओं का क्रम टूलकिट में साझा की गई कथित कार्य योजना की “नकल” थी।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें