गूगल पर 1.1 मिलियन यूरो ( 1.3 मिलियन डॉलर) का जुर्माना लगा है. फ्रेंच अथॉरिटीज ने यह नतीजा निकाला है कि सर्च इंजन ने फ्रेंच होटलों के लिए गलत रैंकिंग को दिखाया है. इससे पहले गूगल ने अपने एलगोरिदम में आधिकारिक स्रोत Atout फ्रांस के साथ दूसरी होटल इंडस्ट्री वेबसाइट्स से इनपुट का इस्तेमाल होटलों को एक से पांच स्टार की रैंक देने के लिए इस्तेमाल किया है.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

फ्रेंच स्टार रेटिंग दिखाने के लिए जरूरी बदलाव
होटल मालिकों से गूगल की रैंकिंग को लेकर शिकायतें मिलने के बाद फ्रांस की सरकार की फ्रॉड और कंप्टीशन एजेंसी ने 2019 और 2020 में जांच को लॉन्च किया था. उसने कहा था कि उसका मकसद प्लेटफॉर्म द्वारा 7,500 संस्थानों की उपलब्ध जानकारी की सच्चाई की निगरानी करना था. गूगल ने कहा कि उसने गूगल मैप्स और सर्च पर होटलों के लिए अब केवल आधिकारिक फ्रेंच स्टार रेटिंग दिखाने के लिए जरूरी बदलाव किए हैं.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

पिछले साल भी लगा था जुर्माना
इससे पहले पिछले साल दिसंबर में फ्रांस की डेटा प्राइवेसी पर रखने वाली संस्था ने गूगल और अमेजन पर कुल 16.3 करोड़ डॉलर का जुर्माना लगाया था. निगरानी वाली संस्था ने कहा था कि उसने विज्ञापन की कुकीज पर देश के नियमों को तोड़ने के आरोप में गूगल पर 100 मिलियन यूरो (12.1 करोड़ डॉलर) और 35 मिलियन यूरो (4.2 करोड़ डॉलर) का जुर्माना लगाया. CNIL ने एक बयान में कहा था कि दोनों कंपनियों की फ्रेंच वेबसाइट्स ने इंटरनेट यूजर्स से ट्रैकर या कूकीज के बारे में पहले से मंजूरी नहीं मांगी, जो विज्ञापनों के उद्देश्य से अपने आप कंप्यूटरों पर सेव हो गईं

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें