‘डिअर ज़िन्दगी’ के बाद, शाहरुख़ खान और आलिया भट्ट इस बार ‘डार्लिंग्स’ के साथ एक मजेदार माँ-बेटी की कहानी बताने के लिए एक साथ आ गए है लेकिन अभिनेता इस बार एक निर्माता का पदभार संभाल रहे है। शाहरुख खान और आलिया भट्ट ने पहली बार गौरी शिंदे की डियर जिंदगी में साथ काम किया था, जो महत्वपूर्ण और व्यावसायिक दोनों मोर्चे पर सफल साबित हुई है।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

अब, शाहरुख खान बतौर एक निर्माता, इस बार एक विचित्र माँ बेटी की कहानी, डार्लिंग्स पर आलिया भट्ट के साथ पुनर्मिलन के लिए तैयार है। एक सूत्र के अनुसार, पूरी फिल्म रेड चिलीज़ द्वारा विकसित की गई है और कुछ समय पहले आलिया को सुनाई गई थी। एक सूत्र ने बताया, “उन्हें यह बेहद पसंद आई और तुरंत फिल्म के लिए हामी भर दी।”

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

डार्लिंग्स के साथ जसमीत के रेने बतौर निर्देशक डेब्यू कर रही हैं, जिन्होंने कई फिल्मों पर एसोसिएट डायरेक्टर और चीफ असिस्टेंट डायरेक्टर के रूप में काम किया है और पहले फोर्स 2, फन्नी खान व पति पत्नि और वो जैसी फिल्में लिखी हैं। फिल्म में आलिया की मुख्य भूमिका के साथ-साथ शेफाली शाह, विजय वर्मा और रोशन मैथ्यू जैसे कलाकार हैं। कहा जाता है कि यह एक प्यारी मां – बेटी की जोड़ी, जो आलिया और शेफाली द्वारा निभाई गई है, के बारे में एक विचित्र कहानी है, जो ज़िंदगी में पागलपन से भरपूर परिस्थितियों से गुजरती हैं।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें 

शेयर बाजार की खबरें पढें-

52 हजार के पार हुआ शेयर बाजार, बेहतर ग्लोबल संकेतों के बीच घरेलू शेयर बाजार में शानदार तेजी देखने को मिली है. 15 फरवरी के कारोबार में सेंसेक्स और निफ्टी दोनों इंडेक्स अपने रिकॉर्ड हाई पर पहुंच गए. वहीं बाजार की क्लोजिंग भी रिकॉर्ड स्तर पर हुूई. सेंसेक्स ने आज पहली बार 52 हजार का स्तर ब्रेक कर दिया. वहीं निफ्टी भी 15300 के पार निकल गया. आगे पढेें….

पढें कानून का हथौडा

देश की न्याय व्यवस्था हो चुकी है खस्ताहाल – पूर्व CJI रंजन गोगोई

देश की न्याय व्यवस्था को लेकर भारत के पूर्व मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई व सांसद ने एक टीवी कार्यक्रम के दौरान एक बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा कि देश की न्याय व्यवस्था खस्ताहाल है।

लाइव लॉ के मुताबिक, पूर्व न्यायाधीश रंजन गोगोई ने भी यह माना कि अब कोई भी कोर्ट नहीं जाना चाहता, वह भी कोर्ट नहीं जाना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि जो लोग रिस्क उठा सकते हैं वही अदालत का रुख करते हैं। आगे पढें…