उन्नाव – पीड़ित परिवार नजरबंद, इलाका सील, मीडिया को भी रोका गया, योगी राज में इंतेहाँ

उन्नाव: उत्तर प्रदेश में उन्नाव जिले में दलित समुदाय की तीन नाबालिग़ लड़कियों के एक खेत में संदिग्ध रूप से अचेतन अवस्था में मिलने से सनसनी फैल गयी। परिजनों द्वारा स्वस्थ्य केंद्र लेकर पहुंचने पर इनमे से दो को मृत घोषित कर दिया गया जबकि एक को प्रारंभिक इलाज के बाद कानपुर रेफर कर दिया गया। पुलिस प्रशासन ने घटनास्थल को कब्जे में ले लिया है। पीड़ित परिवार को नजरबंद कर दिया है। किसी को उनसे बात करने की अनुमति नहीं है। यहां तक कि मीडिया के लोगों को भी आगे नहीं जाने दिया जा रहा है। एक तरह से इलाके को सील कर दिया गया है। 

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

जानवरों का चारा लेने गई थी
पुलिस सूत्रों ने बताया कि बुधवार शाम उन्नाव केे बबुरहा गांव के बाहर एक ही परिवार की कोमल (15) पुत्री संतोष पासी तथा काजल (14) पुत्री सूर्यपाल पासी और रोशनी (16) पुत्री स्व सूरज बली घर से जानवरों का चारा लेने गई थी। देर शाम तक वापस न आने पर परिजनों की खोजबीन की। गांव के बाहर एक किलोमीटर की दूरी पर तीनों गंभीर अवस्था मे दुपट्टे से बंधी खेत में पड़ी मिली। घटना की सूचना से गांव में हड़कंप मच गया।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

पुलिस ने जानकारी ली
परिजनों ने पुलिस को सूचना दिया और तीनो को ले जाकर सीएचसी असोहा पहुंचे जहां डॉक्टरों ने कोमल और काजल को मृत घोषित कर दिया। रोशनी को जिला अस्पताल उन्नाव बेहतर इलाज के लिये रिफर कर दिया। जहां पर प्राथमिक उपचार देकर उसे उन्नाव से कानपुर रिफर कर दिया गया। जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार ने जिला अस्पताल पहुंचकर घटना के संबंध में जानकारी ली। घायल युवती के परिजनों से जानकारी हांसिल करी।

ज़हर देने के लक्षण
पुलिस अधीक्षक आनंद कुलकर्णी ने घटना स्थल पहुंचकर बताया कि मौके पर मिली दोनो बच्चियों की मौत हो चुकी है, और घायलावस्था में जिला अस्पताल में इलाज ले रही रोशनी के संबंध में प्रथम दृष्टया ज़हर देने के लक्षण होने की बात डॉक्टरों द्वारा बताई गई है। मौके पर झाग मिलने की जानकारी मिली है। प्रत्यक्षदर्शियों के बयान लेकर जांच की जा रही है। जल्द मामला साफ होगा।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें 

पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार
घटनास्थल पर पुलिस अधीक्षक के साथ कई थानों की फोर्स, एएसपी, सीओ ने पहुंच जांच शुरू कर दी है। आईजी लक्ष्मी सिंह ने भी घटना स्थल पहुंचकर जायजा लिया। घटना के संबंध में स्थानीय लोगों में तरह तरह की चर्चाएं हो रही हैं। हत्या के साथ ही बच्चियों से अनहोनी होने की आशंका के बीच स्थानीय निवासी अब पोस्टमार्टम रिपोर्ट इंतजार है।

जांच के लिए कई टीमों का गठन
आईजी लक्ष्मी सिंह के नेतृत्व में ही जांच पड़ताल चल रही है। पुलिस ने कई टीमों का गठन कर दिया है। आईजी का दावा है कि जल्द ही मामले का खुलासा किया जाएगा। अभी इस प्रकरण में कुछ भी कहा नहीं जा सकता है। वहीं, एसपी ने कहा कि तीनों लड़कियां बेहोशी की हालत में मिली थीं। तीनों को अस्पताल पहुंचाया गया तो दो की मौत हो चुकी थी।

प्रथमदृष्टया पता चला है कि तीनों घास काटने गई थीं। मौके पर झाग मिला है। जहरीला पदार्थ से हालत बिगड़ने की आशंका है। डाक्टर ने भी यही आशंका जताई है। मौके पर मौजूद लोगों के बयान लिये गए हैं। मामले की गहराई से जांच की जा रही है।

सहमा परिवार
अचानक हुई घटना से तीनों किशोरियों का परिवार सहमा हुआ है। उन्नाव जिला अस्पताल की इमरेजेंसी में मौजूद रोशनी के बड़े भाई विशाल का कहना है कि तीनों मवेशियों के लिए चारा लेने रोज जाया करती थी। अभी पता नहीं चल सका है कि बहन रोशनी की हालत कैसे खराब हुई है। अधिकारियों ने परिवार वालों  को ढांढस बंधाया और मदद का आश्वासन दिया