नई दिल्ली: एयरटेल 5G के लिए क्वॉलकम से क़रार, टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल और चिप बनाने वाली अमेरिकी कंपनी क्वॉलकम ने मंगलवार को भारत में 5G उपलब्ध कराने में तेजी लाने के लिए समझौते का एलान किया. एयरटेल हाल ही में भारत की पहली टेलिकॉम कंपनी बनी जिसने हैदराबाद शहर में एक लाइव कमर्शियल नेटवर्क में 5G नेटवर्क का प्रदर्शन किया, जिसने कंपनी की तकनीकी क्षमताओं को दिखाया. कंपनी के बयान के मुताबिक, एयरटेल के नेटवर्क विक्रेता और डिवाइस पार्टनर्स के जरिए कंपनी 5G RAN प्लेटफॉर्म्स का वर्चुअलाइज्ड और ओपन RAN बेस्ड 5G नेटवर्क शुरू करने के लिए क्वॉलकम 5G RAN प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल करेगी.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

इसमें आगे कहा गया है कि O-RAN के फ्लैक्सिबल और बड़े स्तर के आर्किटेक्चर से छोटे और मध्य आकार के कारोबारों को 5G नेटवर्क को उपलब्ध कराने में नए मौके मिलेंगे. ओपन RAN या ओपन रेडियो एक्सेस नेटवर्क आर्किटेक्चर इंडस्ट्री की शब्दावली है. बयान में कहा गया है कि एयरटेल और क्वॉलकम टेक्नोलॉजीज कई चीजों के लिए समझौता करेंगी, जिसमें 5G फिक्स्ड वायरलेस एक्सेस (FWA) शमिल है, जो गीगाबीट स्पीड पर घरों और कारोबारों को ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी डिलीवर करेगा.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

बयान के मुताबिक, समझौते का लक्ष्य पूरे भारत में किफायती और जल्दी ब्रॉडबैंड सेवाओं को उपलब्ध कराना है, जिससे आखिरी छोर तक कनेक्टिविटी की चुनौतियों का समाधान हो सके, जो आज की रिमोट, मोबाइल फर्स्ट समाज में महत्वपूर्ण बन रहे हैं.

ब्रेकिंग न्यूज…

दण्डित किये जायेंगे नियम तोड़ने वाले लोग
मुख्यमंत्री ने कहा कि नियमों का उल्लंघन करने वालों को दंडित किया जाएगा। मुख्यमंत्री के अनुसार, कोरोना वायरस के खिलाफ युद्ध में मास्क एकमात्र “ढाल” है। ठाकरे ने कहा, “मास्क पहनें, अनुशासन बनाए रखें और लॉकडाउन से बचने के लिए सामाजिक दूरी बनाये रखने के नियम का पालन करें।” आगेे पढेें

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

कुंभ मेले पर भी मडरा रहा कोरोना का प्रकोप, इस बार होगा मात्र 28 दिन का ही आयोजन

पिछले कई दिनों से देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में अचानक उछाल आया है और उत्तराखण्ड सरकार ने इसी को देखते हुए हरिद्वार में आयोजित होने वाला कुंभ मेले में दो दिन की कटौती कर दी है, अब यह मेला 30 दिन के बजाय 28 दिनों का होगा जो 28 अप्रैल तक चलेगा। सरकार ने यह फैसला साधु संतों से बात करने के बाद लिया है। इस फैसले की जानकारी देते हुए मुख्‍यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि जल्‍द ही मेले की अधिसूचना जारी की जाएगी। आगे पढें…