फाइलों का मुआयना करते एनएचएआई के सर्वेयर।

फाइलों का मुआयना करते एनएचएआई के सर्वेयर। 

छिबरामऊ (कन्नौज) कानपुर से एनएचएआई (नेशनल हाईवेज अथारिटी ऑफ इंडिया)के सर्वेयर और कार्यदायी संस्था के मैनेजर ने किसानों की मुआवजा वाली फाइलों की जांच शुरू कर दी है। बड़ी संख्या में किसानों को अभी भी मुआवजा नहीं मिला है। वहीं कार्यदायी संस्था ने काम में तेजी ला दी है।
सर्वेयर रामऔतार यादव और कार्यदायी संस्था जीआर इंफ्रा के मैनेजर मणिकांत पाठक ने शुक्रवार को तहसील सभागार में आधा दर्जन गांवों की 200 पत्रावलियों की जांच की। रामऔतार यादव ने बताया कि इन फाइलों को दुरुस्त कर मुआवजे के लिए सोमवार तक भू अध्याप्ति कार्यालय कानपुर भेजा जाएगा। उन्होंने बताया कि मिघौली की 49 खुड़ावा की 57, इस्माइलपुर की 34, डुडवा बुजुर्ग की 12 और लडै़ता की 10 फाइलों की जांच की गई।
जनपद कन्नौज में लगभग 200 करोड़ रुपये किसानों को बांटे जाने हैं। कागजी कार्रवाई पूरी न होने से अभी तक किसानों को जमीन का मुआवजा नहीं मिला है। वहीं कार्यदायी संस्था ने अपना काम तेज कर दिया है। सिकंदरपुर बाईपास पर तेजी से कार्य चल रहा है। अंडरपास का निर्माण हो रहा है। वहीं मिघौली, लड़ैता, अकबरपुर, सिकंदरपुर, इस्माइलपुर, डुडवा बुजुर्ग, सराय प्रयाग के ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को पत्र भेजा है। इसमें सड़क निर्माण में गईं जमीन का मुआवजा दिलाने की मांग की गई। पत्र पर विमल तिवारी, राकेश कुमार, जय सिंह सहित कई लोगों ने हस्ताक्षर किए हैं।