नई दिल्ली: भारतीय किसान यूनियन नेता नरेश टिकैत ने गाजीपुर बॉर्डर पर रविवार को महापंचायत में सरकार पर निशाना साधा। भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेश टिकैत ने हाल ही में हुए राकेश टिकैत पर हमले का जिक्र करते हुए कहा, “बीजेपी ओछी हरकतों से बाज आए और इस मसले को जल्द हल करे। हम कोई देश विरोधी काम नहीं कर रहे हैं। किसान हमारा परिवार है और हम आज बॉर्डर पर इनकी हौसला अफजाई करने आए हैं।”

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

नरेश टिकैत ने अलवर में हुई घटना की निंदा की
उन्होंने कहा, “यदि किसान नेता या किसान पर आंच आई तो देश की सड़कों पर किसान होगा। अलवर में हुई घटना की हम निंदा करते हैं, ये गलत है।”

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

इस महापंचायत में उत्तरप्रदेश और उत्तराखंड के किसानों ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया। इस पंचायत को लेकर किसान संगठनों के पदाधिकारियों को संदेश भेजा गया था। यही वजह है कि बॉर्डर पर दूर दूर तक सिर्फ किसान ही किसान नजर आए।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

किसान को पराया न समझे सरकार
नरेश टिकैत ने एक बार फिर मांग दोहराते हुए कहा कि सरकार इन कानूनों को वापस ले और किसान को पराया न समझे। किसान बॉर्डर पर 4 महीने से अधिक समय से सड़कों पर बैठे हैं, सरकार को इनकी सुध लेनी चाहिए।