Manvadhikar Abhivyakti News
google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

चमोली में वापस फटा ग्लेशियर, ग्लेशियर फटने से हुई 8 लोगों की मौत

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0
google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

उत्तराखंड: चमोली में वापस फटा ग्लेशियर, भारत चीन सीमा के पास स्थित नीती घाटी के सुमना क्षेत्र में आईटीबीपी की बटालियन की पोस्ट के पास ग्लेशियर टूट गया. ग्लेशियर टूटने से यहां बड़ी संख्या में लोग फंस गए, जिन्हें बचाने के लिए सेना ने रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू कर दिया. अबतक आठ लोगों की मौत की सूचना मिल रही है वहीँ सेना ने करीब 430 लोगों को बचा लिया है.

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

8 शव हुए बरामद
सेना के अनुसार सुराई ठोटा से लेकर मलारी क्षेत्र में कई ग्लेशियरों के सड़क पर गिरने की जानकारी है. अभी तक 8 शव हुए बरामद हुए हैं. लगभग 425 से 430 लोगों के फंसे होने की आशंका है. लगातार राहत और बचाव कार्य जारी है. दो शव सुबह 7:30 बजे बरामद किए गए, वहीं 9:00 से 10:00 के बीच छह शव बर्फ से बाहर निकाले गए. सुमना में घायलों को जोशीमठ सेना के अस्पताल में वायुसेना के हेलिकॉप्टर से पहुंचाने की कोशिश हो रही है.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

सुमना रिमखिम के पास हुआ हिमस्खलन
ये हिमस्खलन सुमना रिमखिम के पास शुक्रवार शाम चार बजे हुआ. यहां पर बीआरओ कैंप में लोग मौजूद थे, बर्फबारी के दौरान हुए हिमस्खलन ये लोग फंस गए, जिन्हें बचाने के लिए रेस्क्यू ऑपरेशन जारी किया गया. बीते पांच दिनों से लगातार भारी बारिश और बर्फबारी हो रही है. चार से पांच जगहों पर सड़क कट गई है. घटनास्थल के पास ही सेना और मजदूरों के कैंप हैं, जो सड़क बनाने के लिए वहां रहते हैं.

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

अलर्ट जारी
वहीं घटना के बाद से उत्तराखंड के सीएम तीरथ सिंह रावत पूरे मामले पर नजर बनाए हुए हैं. सेना के अधिकारियों व सीएम के बीच मामले को लेकर वार्ता जारी है. सीएम ने ट्विटर पर लिखा है कि नीती घाट के सुमना में ग्लेशियर टूटने की सूचना मिली है. इस संबंध में अलर्ट जारी कर दिया गया है. वे निरंतर जिला प्रशासन और बीआरओ के संपर्क में हैं. एनटीपीसी एवं अन्य परियोजनाओं में रात के समय काम रोकने के निर्देश दिए हैं, ताकि कोई अप्रिय घटना न होने पाये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0