कन्नौज(यूपी) कोरोना संक्रमण को लेकर हर ओर त्राहि-त्राहि है। लोगों को इलाज नसीब नहीं हो रहा। राजकीय मेडिकल कालेज में भर्ती होने के लिए वेटिंग चल रही है। कोई बेड नहीं खाली है। शासन को अब तक कोविड मरीजों के लिए बनाए जाने वाले एल-2 हास्पिटल का प्रस्ताव नहीं भेजा जा सका है।
कोरोना संक्रमितों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। इनके इलाज के लिए राजकीय मेडिकल कालेज में कोविड वार्ड की व्यवस्था की गई है। यहां दिनों दिन स्थिति भयावह होती जा रही है। लोगों को ऑक्सीजन से लेकर साफ-सफाई समेत तमाम समस्याओं से जूझना पड़ रहा है। रविवार को तमाम मरीज भर्ती होने के लिए पहुंचे। बेड खाली नहीं होने से भर्ती नहीं किया Qजा सका। इनमें कई ऑक्सीजन लेवल काफी नीचे होने से नाजुक स्थिति में थे। इन्हें भर्ती नहीं किया जा सका। वहीं राजकीय मेडिकल कालेज के प्राचार्य नवनीत कुमार ने बताया कि उनके यहां 100 बेड होम आइसोलेशन, 30 बेड इमरजेंसी के हैं। यह सभी फुल हैं। 37 से 40 लोगों की वेटिंग चल रही है। ऐसे में जिले में एक और एल-2 हास्पिटल की आवश्यकता है। अभी तक शासन को प्रस्ताव नहीं भेजा गया है।
जिले में होता सिर्फ एक हास्पिटल 
मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ.कृष्ण स्वरूप ने बताया कि जिले में कोविड मरीजों के इलाज के लिए एक एल-2 हास्पिटल होता है। यह राजकीय मेडिकल कालेज में बना हुआ है। अन्य जिलों में भी एक हास्पिटल से काम चल रहा है। दूसरा हास्पिटल बनाने में संसाधन कहां से जुटाए जाएंगे। अगर वहां पर बेड नहीं हैं तो संख्या बढ़ाई जा सकती है। 
डीएम, सीएमओ को ट्वीट कर मांगी मदद 
मोचीपुर निवासी ममता पांडेय का ऑक्सीजन लेवल 30-40 पहुंच गया। बेटा मेडिकल कालेज लेकर पहुंचा। बेड खाली नहीं होने का हवाला देते हुए कालेज प्रशासन ने दूसरी जगह भर्ती होने की सलाह दी। इसके बाद जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी को ट्वीट कर हेल्प मांगी गई। बेड फुल होने की वजह से समस्या का हल नहीं हो सका।