नई दिल्ली: राहुल ने बढ़ाया कोरोना पीड़ितों के परिजनों का हौसला, कोरोना वायरस की दूसरी लहर आ जाने के बाद भारत की स्थिति दिन प्रतिदिन बिगड़ रही है. लोग परेशां और निराश हैं. लोगों का दुख देखते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने उन मरीजों की हिम्मत बढ़ाई जो कोरोना से जंग लड़ रहे हैं.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

राहुल ने बढ़ाया कोरोना पीड़ितों के परिजनों का हौसला

राहुल गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा, “इलाज की कमी के चलते अपने प्रियजन खो रहे देशवासियों को मेरी संवेदनाएं. इस त्रासदी में आप अकेले नहीं हैं- देश के हर राज्य से प्रार्थना व सहानुभूति आपके साथ है. साथ हैं तो आस है”

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

इससे पहले राहुल गांधी ने कविता के माध्यम से सरकार पर निशाना साधा था. अपने ट्वीट में उन्‍होंने लिखा, ‘जो भरा नहीं है भावों से, जो दर्द सुनने को तैयार नहीं,वह हृदय नहीं है पत्थर है, जिस ‘सिस्टम’ को जन से प्यार नहीं!’ देश के स्‍वाधीनता संग्राम के दौरान लिखी गई पुरानी कविता को राहुल ने कुछ संशोधन के साथ अपने ट्वीट में स्‍थान दिया है.