मधुबनी (बिहार): कोविड संक्रमित गर्भवती नर्स, जिला मुख्यालय में सोमवार को एक हृदय विदारक घटना ने सब को झ॔कझोर कर रख दिया। सदर अस्पताल की स्टाफ नर्स अर्चना कुमारी गर्भवती कोविड संक्रमण के इलाज को लेकर भर्ती हुयी थी लेकिन सोमवार को उसने इलाज व ऑक्सीजन के अभाव में दम तोड़ दिया। सदर अस्पताल मधुबनी के प्रसव कक्ष की स्टाफ नर्स अर्चना कुमारी की कोरोना से मौत के बाद स्टाफ नर्सो व परिजनों ने जमकर बवाल काटा। परिजन व अस्पताल के नर्स ने आरोप लगाया कि स्टाफ नर्स अर्चना कुमारी की मौत ऑक्सीजन के अभाव में हो गई । 

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

कोविड संक्रमित गर्भवती नर्स


बताया गया कि अर्चना गर्भवती थी। अस्पताल में ड्युटी के दौरान ही कोविड पोजिटीव हो गई। सदर अस्पताल में सोमवार को अर्चना की मौत हो गई।अस्पताल में कार्यरत नर्स व अर्चना की परिजनों ने खुब बवाल काटा। सूचना के बाद सिविल सर्जन डा सुनील कुमार झा व सदर एसडीओ अभिषेक रंजन अस्पताल पहुंचकर प्रदर्शनकारियों से बातचीत की। नालंदा जिला निवासी गर्भवती महिला नर्स अर्चना कुमारी सदर अस्पात मधुबनी में कई बर्षों से कार्यरत थी। कोरेाना पाॅजिटिव होने के बाद सदर अस्पताल में थी।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

उनका ईलाज चल रहा था।हालत ज्यादा खराब होने लगी तो अस्पतल प्रशासन ने उन्हे बेहतर इलाज के लिए डीएमसीएच रेफर कर दिया। डीएमसीएच , दरभंगा में बेड खाली नही रहने के कारण भर्ती लेने से इंकार कर दिया। अन्य अस्पतालों में भर्ती के लिए एम्बुलेंस घुमती रही। किसी अस्पाताल ने उन्हे ईलाज के लिए भर्ती नही किया। कोरोना संक्रमित गर्भवती नर्स अर्चना ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें