नई दिल्ली: सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकॉनमी (CMIE) के मुताबिक अप्रैल के महीने में देश में 75 लाख से ज्यादा लोगों की नौकरियां चली गई हैं. इसका नतीजा यह हुआ है कि देश में बेरोजगारी की दर 8 फीसदी के करीब जा पहुंची है. यह जानकारी आज CMIE के प्रमुख महेश व्यास ने दी है. व्यास के मुताबिक आने वाले दिनों में भी रोज़गार के मोर्चे पर देश के हालात लगातार मुश्किल बने रहने की आशंका है.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

CMIE के ताजा आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल के महीने में पूरे देश की औसत बेरोजगारी दर बढ़कर 7.97 फीसदी हो गई है, जो 4 महीने का सबसे ऊंचा स्तर है. इससे पहले मार्च के महीने में बेरोजगारी दर का राष्ट्रीय औसत 6.50 फीसदी था. शहरी इलाकों का हाल तो और भी खराब है, जहां अप्रैल में बेरोज़गारी की दर 9.78 फीसदी पर जा पहुंची है. इसके मुकाबले गांवों की हालत कुछ कम खराब है, जहां बेरोजगारी 7.13 फीसदी दर्ज की गई है. मार्च के महीने में शहरी और ग्रामीण, दोनों ही इलाकों में बेरोजगारी दर अप्रैल के मुकाबले कम थी.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

कोरोना महामारी की दूसरी लहर के कारण देश के कई इलाकों में लॉक डाउन जैसे हालात हैं. इन इलाकों में सिर्फ बेहद जरूरी गतिविधियों की ही इजाजत है, जबकि ज्यादातर बाकी कामकाज बंद पड़े हैं. इसके कारण आर्थिक गतिविधियों पर कुल मिलाकर काफी बुरा असर पड़ रहा है. लाखों लोगों की नौकरियां छिन जाना इसी का नतीजा है.

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें