28 C
Mumbai
Thursday, September 29, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

32 देशों ने भारत को भेजी कोरोना महामारी से मुक़ाबले के लिए सहायता सामग्री

नयी दिल्ली: 32 देशों ने भारत को भेजी, भारत में कोविड महामारी से मुकाबले के लिए अब तक 32 देशों से सहायता सामग्री प्राप्त हुई है जिनमें 17 ऑक्सीजन जेनेरेटर, 6771 ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर, 9435 सिलेंडर एवं 4458 वेंटीलेटर एवं सहायक उपकरण तथा करीब तीन लाख 97 हजार रेमडेसिविर इंजेक्शन शामिल हैं।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

32 देशों ने भारत को भेजी

बड़ी मात्रा में स्पूतनिक-5 वैक्सीन प्राप्त
सरकार के आंकड़ों के अनुसार ब्रिटेन, मॉरीशस, सिंगापुर, रूस, संयुक्त अरब अमीरात, आयरलैंड, रोमानिया, अमेरिका, थाईलैंड, जर्मनी, फ्रांस, बेल्जियम, इटली, ऑस्ट्रेलिया, बहरीन, कुवैत, कतर, ओमान, बंगलादेश, स्विट्जरलैंड, नीदरलैंड्स, पोलैंड, डेनमार्क, इजरायल, ऑस्ट्रिया, चेक गणराज्य, कनाडा, जापान, स्पेन, दक्षिण कोरिया, लक्ज़मबर्ग आदि से सहायता सामग्री आयी है। रूस से बड़ी मात्रा में स्पूतनिक-5 वैक्सीन भी प्राप्त हुईं हैं जो मंजूरी की प्रक्रिया में हैं।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

स्पेन ने 260 एम्बुलैंस डिवाइस प्रदान की
ये सामग्री 27 अप्रैल से लेकर गुरुवार 13 मई की दोपहर दो बजे तक प्राप्त हुई है। इसके अलावा सऊदी अरब, फ्रांस, इजरायल आदि से लगभग 300 टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन आयी है। प्राप्त ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर्स में 346 कन्सन्ट्रेटेर्स भारतीय वायुसेना ने इजरायल से खरीदे हैं। इनके अलावा स्पेन ने 260 एम्बुलैंस डिवाइस प्रदान की हैं।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

इन देशों ने ऑक्सीजन जनरेटर
जर्मनी, अमेरिका, फ्रांस एवं इजरायल ने भारत को ऑक्सीजन जेनेरेटर प्रदान किये हैं। फ्रांस ने भारत को अस्पताल में ऑक्सीजन का उत्पादन करने वाले आठ अत्याधुनिक संयंत्र प्रदान किये हैं। प्रत्येक नोवएयर प्रीमियम आर एक्स 400 हॉस्पिटल लेवल ऑक्सीजन जेनेरेटर 250 बिस्तरों को सालभर तक ऑक्सीजन दे सकता है। ये ऑक्सीजन जेनेरेटर आठ अस्पतालों को दस साल से अधिक समय तक अनवरत प्राणवायु प्रदान करने में सक्षम है।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here