29 C
Mumbai
Thursday, September 29, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

महमूद अब्बास की दो टूक इजरायली कब्जा हटने तक शांति नहीं

गाज़ा: इजरायल और फिलीस्तीन के बीच संघर्ष जारी है. इसी बीच फिलीस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन से फोन पर बातचीत की. जिसमें उन्होंने इजरायल से जारी संघर्ष में हस्तक्षेप करने और फिलीस्तीन पर हो रहे हमलों को बंद करवाने की अपील की. शनिवार को मिली एक जानकारी के मुताबिक अब्बास ने राष्ट्रपति बाइडेन से कहा कि जब तक इलाके से इजरायली कब्जा नहीं हट जाता तब तक यहां शांति स्थापित नहीं हो सकती है.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

फिलीस्तीन के राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने बातचीत के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन से कहा कि फिलिस्तीन के लोग शांति चाहते हैं. ऐसे में वो इस मुद्दे को लेकर इंटरनेशनल मध्यस्थता स्वीकार करने के लिए भी तैयार हैं. वहीं अमेरिकी राष्ट्रपति ने भी हिंसा कम करने और पश्चिमी इलाके में शांति स्थापित करने पर जोर दिया है.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

जानकारी के मुताबिक इस दौरान परिस्थिति ऐसी है जहां पर ना इजरायल पीछे हटने को तैयार है और ना ही फिलीस्तीन की तरफ से हमले कर रहा हमास. कुछ देशों द्वारा मध्यस्थता की कोशिश की गई है, लेकिन कोई परिणाम निकलता नहीं दिख रहा है.

इसके अलावा अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ एक कॉल पर नागरिकों और पत्रकारों की सुरक्षा के बारे में चिंता जताई. दरअसल शनिवार को एक इजरायली हवाई हमले ने गाजा शहर में एक ऊंची इमारत को नष्ट कर दिया, जिसमें एसोसिएटेड प्रेस और अन्य मीडिया आउटलेट्स के कार्यालय थे.

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

बता दें कि इजरायल और फिलीस्तीनी संगठन हमास के बीच जबरदस्त लड़ाई हो रही है. 10 मई से हमास इजरायल पर रॉकेट बरसा रहा है और इजरायल इसका जवाब ताबड़तोड़ हवाई हमलों से दे रहा है. गाजा में इजरायल हमास के ठिकानों को चुन-चुनकर निशाना बना रहा है. इसके लिए अब उसने अपनी आर्मी को भी बॉर्डर पर उतार दिया है.

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here