Manvadhikar Abhivyakti News
google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0
7 जून से नई ITR ई-फाइलिंग वेबसाइट वापस शुरु होगी, मोबाईल एप और लाईव चैट के साथ कई अन्य फीचर्स

7 जून से नई ITR ई-फाइलिंग वेबसाइट वापस शुरु होगी, मोबाईल एप और लाईव चैट के साथ कई अन्य फीचर्स

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0
google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

31 मई 2021 की आधी रात से रोक दिया गया

नई दिल्ली: इनकम टैक्स रिटर्न फाइलिंग की प्रक्रिया को ई-फाइलिंग वेबसाइट incometaxindiaefiling.gov.in को बंद किए जाने के बाद छह दिन के लिए रोक दिया गया है. इसे 31 मई 2021 की आधी रात से रोक दिया गया है. फाइलिंग की प्रक्रिया 7 जून से दोबारा शुरू होगी. नई ई-फाइलिंग वेबसाइट 6 जून को लॉन्च की जाएगी.

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

मोबाइल नेटवर्क पर सभी मुख्य कामों के लिए एक्सेस

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0

इसके साथ एक मोबाइल ऐप भी तैयार किया जाएगा, जिससे मोबाइल नेटवर्क पर सभी मुख्य कामों के लिए एक्सेस मिलेगा. इस पोर्टल के सभी महत्वपूर्ण फीचर्स को मोबाइल ऐप पर उपलब्ध कराया जाएगा. मौजूदा व्यवस्था में कोई मोबाइल ऐप उपलब्ध नहीं है.

नए ई-फाइलिंग पोर्टल को इनकम टैक्स रिटर्न की तुरंत प्रोसेसिंग के साथ इंटिग्रेट किया जाएगा. इससे करदाताओं को तुरंत रिफंड का फायदा मिल सकेगा.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

आगे फॉलो-अप के लिए पेंडिग एक्शन

नए ई-फाइलिंग पोर्टल में नया सिंगल डैशबोर्ड मिलेगा. डैशबोर्ड में सभी अपलोड आदि के साथ आगे फॉलो-अप के लिए पेंडिग एक्शन दिखेंगे.

मुफ्त ऑफलाइन और ऑनलाइन आईटीआर तैयार करने का सॉफ्टवेयर

इसमें करदाताओं को मुफ्त ऑफलाइन और ऑनलाइन आईटीआर तैयार करने का सॉफ्टवेयर मिलेगा. इस सॉफ्टवेयर में इंटरैक्टिव सवाल होंगे, जिनसे करदाताओं को रिटर्न की प्री-फाइलिंग और आईटीआर को फाइल करते समय डेटा एंट्री में लगने वाली मेहनत को कम करने में मदद मिलेगी.

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

नया कॉल सेंटर स्थापित किया जाएगा

वेबसाइट में कॉल सेंटर, ट्यूटोरियल, वीडियो और चैटबॉट या लाइव एजेंट जैसे सिस्टम शामिल किए गए हैं, जिनसे टैक्सपेयर्स की मुश्किलों का समाधान किया जा सके. करदाताओं के सवालों के हल के लिए एक नया कॉल सेंटर स्थापित किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

google.com, pub-2846578561274269, DIRECT, f08c47fec0942fa0