29 C
Mumbai
Wednesday, October 5, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

लखीमपुर हिंसा: हुज़ूर इस वीडियो कि सच्चाई की तह तक पहुंचने के लिये क्या होगी CBI जांच, और मिलेंगे कुछ सवालों के जवाब ? – रवि निगम

आपकी अभिव्यक्ति

रवि जी. निगम (संपादक / समाज सेवक)

क्या लोकतंत्र की हत्या कर तालिबानी शासन की ओर बढ़ रहा है देश ? क्या अब देश में संविधान द्वारा प्रदक्त अनुच्छेद 19 की हत्या ऐसे ही कुचल कर की जायेगी ? क्या सत्तासुख: के खातिर सामाजिक ताने-बाने को ऐसे ही उजाड़ा जायेगा ? सत्ताधारी पक्ष क्या विपक्ष की आवाज को सत्ता की ताकत से कैद कर इसी प्रकार ही घोटेगी ? देश आज आजादी के 75वें वर्ष को सेलीब्रेट कर रहा है, लेकिन ऐसी ह्रदय विदारक घटनाओं को देख आज देश सहम उठा है कि कहीं हम 75 वर्ष पूर्व के शासन में बेह्तर थे ? क्या हमारे देश के आजादी के दीवानों ने अपने प्राणों की अहुति इसी लिये दी थी ?

हुज़ूर क्या लखीमपुर हिंसा की सच्चाई जानने का हक जनता को है कि नहीं ? इस वीडियो कि सच्चाई की तह तक पहुंचने के लिये क्या CBI जांच कराई जायेगी ? क्या ये बताया जायेगा कि किसी व्यक्ति को बिना कारण बताये हिरासत में कितनी अवधि तक रखा जा सकता है ? जबकि CRPC की धारा-151, 151(1) में प्रावधानित धारा के मुताबिक किसी भी व्यक्ति को 24 घंटे से अधिक हिरासत में नहीं रखा जा सकता है, उसे 24 घंटे के भीतर मजिस्ट्रेट के सम्मुख प्रस्तुत किया जाना चाहिये, तो क्योंकर किसी व्यक्तिविशेष को हिरासत में 24 घंटे से अधिक अवधि तक रखा गया उसे क्योंकर मजिस्ट्रेट के सम्मुख प्रस्तुत नहीं किया गया ? और कब हत्यारों को गिरफ्तार किया जायेगा ? क्या ये सत्ता की हनक़ को चरितार्थ नहीं करती है ? साथ ही ये कथन भी चरितार्थ होता है कि “खाता न वही, जो मंत्री जी कहें, वही सही,” वाह रे वाह ! देश भक्त नेता और सरकार, जनता को कुचलकर सत्ता पर आसीन होने वालों धन्य हो !

यदि जनता अभी भी नहीं चेती(अलर्ट) तो वो दिन दूर नहीं जब भारत में भी अप्रत्यासित तालिबान पार्ट-2 को स्थापित करनें में अपना पूर्ण सहयोग देगी, यदि अभी भी देश की जनता ये सब देख कर जागरुक नहीं हुई तो हम अपने आने वाली पिढियों को वापस गुलामी की जंजीरों में जकड़ने और टुकडों-टुकडों के लिये मोहताज करने के लिये कोई कोर-कसर नहीं छोड़ जायेंगे “जागो-जनता-जागो”।

ट्वीट हो रहे सवाल और वीडियो…

इसीलिए बीजेपी के बारे कहा जाता है – मुँह में राम बग़ल में छुरी वाला चरित्र है इनका.मनीष सिसोदिया

क्या इसके बाद भी कोई प्रमाण चाहिये?
देखिये सत्ता के अहंकार में चूर गुंडे ने किसानो को अपनी गाड़ी के नीचे कैसे रौंदकर मार दिया कुछ चैनल ज्ञान दे रहे थे मंत्री का बेटा जान बचाने के लिए भागा।
#किसान_हत्यारी_भाजपा

Originally tweeted by Sanjay Singh AAP (@SanjayAzadSln) on October 4, 2021.

Originally tweeted by Manish Sisodia (@msisodia) on October 5, 2021.

किसानो की हत्यारी गाड़ियों की रफ़्तार देखिये आदित्यनाथ जी आपके राज में किसानो की निर्मम हत्त्या करने वाले गिरफ़्तार कब होंगे?

संजय सिंह
पिछले 30 घंटे से आपने मुझे मेरे साथियों के साथ पुलिस हिरासत में रखा है।
लेकिन हत्त्यारे खुलेआम घूम रहे हैं।
क्या यही आपके न्याय का सिद्धांत है?

Originally tweeted by Sanjay Singh AAP (@SanjayAzadSln) on October 5, 2021.

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here