26 C
Mumbai
Monday, August 8, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

उर्दू शिक्षक तैनात होने के बावजूद जनपदों में बच्चे उर्दू शिक्षा से वंचित

उ0प्र0 में जनपदों के बेसिक शिक्षा अधिकारी की अनदेखी के चलते परिषदीय विद्यालयों में उर्दू अध्यापकों की तैनाती नियमानुसार नही हो रही है। इस सम्बंध में प्रमुख सचिव उ0प्र0, महानिदेशक,स्कूल शिक्षा उत्तर प्रदेश और सचिव, बेसिक शिक्षा परिषद उत्तर प्रदेश प्रयागराज को मसौली निवासी जुहैब किदवई ने पत्र लिखकर कहा है कि बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा संचालित परिषदीय विद्यालयों में उर्दू शिक्षकों की तैनाती ऐसे विद्यालयों में करदी गई है जहां पर एक भी उर्दू पढ़ने वाला बच्चा नहीं है।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

जुहैब किदवई द्वारा पत्र में मांग की गई है कि उर्दू अध्यापकों को पूर्व में जारी आदेशानुसार मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्रों के विद्यालयों में ही तैनात किया जाए। उन्होंने पत्र में आगे कहा है कि जनपद में उर्दू अध्यापकों की तैनाती तो है,परंतु जनपदों के बीएसए द्वारा पूर्व में हुए आदेशों को नज़रअंदाज़ करके मनमानी तरीके से शिक्षकों की सुविधानुसार एक से ज़्यादा उर्दू शिक्षकों को ऐसे परिषदीय विद्यालयों में तैनात कर दिया गया है जहां पर एक भी उर्दू पढ़ने वाले छात्र-छात्रायें शिक्षारत नहीं है।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

उन्होंने प्रार्थना पत्र के ज़रिए उच्च अधिकारियों से मांग की है कि भविष्य में जनपद के अंदर होने वाले स्थानांतरण/समायोजन/निलंबन से बहाल तथा गैर जनपद से आने वाले उर्दू शिक्षकों को मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र/उर्दू पढ़ने वाले बच्चों के विद्यालयों में ही तैनात किए जाने के पुनः आदेश जारी करें।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here