28 C
Mumbai
Friday, September 30, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

श्रीलंका में राजपक्षे के त्यागपत्र के बाद मना जश्न, नया राष्ट्रपति 7 दिन के अंदर, अमेरिका बासिल राजपक्षे भी भागे

श्रीलंका के संसद सभापति अभयवर्धने ने आज शुक्रवार को गोटबाया राजपक्षे की त्यागपत्र की घोषणा की और कहा कि 7 दिन के अंदर देश को नया राष्ट्रपति मिलेगा

प्राप्त समाचारों के अनुसार गंभीर आर्थिक और राजनीतिक संकट से जूझ रहे श्रीलंका को सात दिन के अंदर नया राष्ट्रपति मिल जाएगा।

संसद के स्पीकर महिंदा यापा अभयवर्धने ने कहा कि राजपक्षे का इस्तीफा मिल चुका है। यह इस्तीफा श्रीलंका में सिंगापुर ऐंबैसी के माध्यम से मिला। कई मीडिया रिपोर्ट्स में यह भी कहा गया कि उन्होंने स्पीकर को इस्तीफा ई-मेल किया है। राजपक्षे के इस्तीफे के बाद कोलंबो में लोग जश्न मनाते और डांस करते नजर आए।

अभयवर्धने ने बताया कि अब ससंद की बैठक शनिवार को होगी। उन्होंने देश की जनता से अपील की है कि वे सांसदों के लिए शांतिपूर्ण माहौल बनाए रखें, ताकि वे राष्ट्रपति चुनाव की प्रक्रिया में भाग ले सकें। राष्ट्रपति चुनाव 22 जुलाई को तय किया गया है।

वहीं, श्रीलंका से भागकर मालदीव पहुंचे पूर्व राष्ट्रपति गोटबाया राजपक्षे अब सिंगापुर पहुंच गए हैं। सऊदी एयरलाइंस का एक विमान गुरुवार शाम उन्हें लेकर सिंगापुर के चांगी इंटरनेशनल एयरपोर्ट पहुंचा। उनके साथ पत्नी और दो बॉडीगार्ड भी थे। गोटबाया एयरपोर्ट पर पत्नी संग शॉपिंग करते दिखे।

सिंगापुर के विदेश मंत्रालय ने कहा कि गोटबाया राजपक्षे निजी यात्रा पर आए हैं। उन्होंने न शरण मांगी है, न उन्हें शरण दी गई है। अब गोटबाया के सऊदी अरब जाने की अटकलें हैं।

श्रीलंका में गुस्साई भीड़ से निपटने की जिम्मेदारी सेना ने संभाल ली है। सेना ने राष्ट्रपति भवन, प्रधानमंत्री दफ्तर समेत प्रशासनिक इमारतों से जनता को हटा दिया है। जनता को संसद में घुसने से रोकने के लिए टैंक तैनात किए गए हैं।

गुरुवार को दोपहर 12 बजे से शुक्रवार सुबह 5 बजे तक कोलंबो में कर्फ्यू लगाया गया। न्यूज एजेंसी AP के मुताबिक, गोटबाया राजपक्षे सिंगापुर के बाद सऊदी अरब जाएंगे।

प्रदर्शनकारियों ने राष्ट्रपति आवास और प्रधानमंत्री आवास खाली कर दिया है। इन दोनों जगहों को सेना ने अपने नियंत्रण में ले लिया है। उधर, राष्ट्रपति राजपक्षे के भाई और पूर्व मंत्री बासिल राजपक्षे भी अमेरिका भाग गए हैं।

श्रीलंका के प्रधानमंत्री आवास में सैन्यकर्मी PM चेयर की रखवाली कर रहे हैं ताकि प्रदर्शनकारी इस पर हमला न कर दें।

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here