25 C
Mumbai
Friday, December 9, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

उदयपुर हत्याकांड: कन्हैयालाल के आठवें आरोपी को NIA ने किया गिरफ्तार, साजिश में अहम भूमिका निभाई थी

मध्‍य प्रदेश के भिंड जिले में दबंगों की दबंगई और स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के चलते एक गर्भवती महिला की मौत हो गई। यहां सात महीने की गर्भवती के विकलांग पति एम्बुलेंस नहीं मिलने की वजह से लोडिंग वाहन में पत्नी को लहार सिविल अस्पताल लेकर पहुंचा। लेकिन इस दौरान महिला ने लोडिंग वाहन में ही एक नवजात बच्चे को जन्म दे दिया।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

अस्पताल पहुंचने पर दूसरे बच्चे को जन्म देने से पहले महिला की मौत हो गई। वहीं, बाद में नवजात की भी मौत हो गई। इस घटना के बाद परिजनों ने जमकर हंगामा किया। मौके पर पहुंची पुलिस ने महिला का पोस्टमॉर्टम कराकर मामले की जांच शुरू कर दी है। यह मामला निसार गांव का है।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

महिला के पति ने कहा कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 181 और एम्बुलेंस नंबर 108 पर डायल करने के बावजूद उन्हें कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। उन्होंने कहा कि वे अंत में एक एम्बुलेंस को पकड़ने में कामयाब रहे, लेकिन उनके गांव के कुछ दबंग लोगों ने एम्बुलेंस के प्रवेश से इनकार कर दिया।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

उन्होंने कहा, ‘फिर मैंने अपनी पत्नी को सिविल अस्पताल ले जाने के लिए एक निजी लोडिंग वाहन की व्यवस्था की। दर्द सहन करने में असमर्थ मेरे पत्नी ने अस्पताल के बाहर हमारे पहले बच्चे को जन्म दिया। पति का आरोप है कि डिलीवरी रूम में मौजूद स्टाफ ने प्रसूता को उचित उपचार न देकर कुर्सी पर बिठा दिया। महिला को लगातार प्रसव पीड़ा और ब्लीडिंग होती रही। रेखा की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया। पुलिस ने शव का पोस्‍टमार्टम कराते हुए परिजनों को सौंप दिया। 

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here