26 C
Mumbai
Monday, September 26, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

छात्रों का MMS वायरल कांड के बाद चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी के बाहर प्रदर्शन, कक्षाएं दो दिनों के लिए स्थगित

चंडीगढ़ विश्वविद्यालय में कथित तौर पर आपत्तिजनक वीडियो लीक (MMS) होने की अफवाह का मामला तुल पकड़ लिया है। रविवार को सैकड़ों की संख्या वाला छात्राओं का एक ग्रुप यूनिवर्सिटी के गेट के बाहर प्रदर्शन कर रहा है। प्रदर्शनकारी छात्राओं का कहना है कि उनके सात न्याय किया जाए। एक तरफ छात्रों का प्रदर्शन चल रहा है तो दूसरी ओर से विश्वविद्यालय प्रशासन ने एमएमएस कांड से पल्ला झाड़ लिया है। विश्वविद्यालय की तरफ से कहा गया है कि गिरफ्तार की गई लड़की ने खुद का ही वीडियो बनाया था और उसे अपने बॉयफ्रेंड को भेजा था। प्रदर्शन को देखते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने कक्षाओं को दो दिनों के लिए सस्पेंड कर दिया है।

वहीं, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान ने पूरे मामले की जांच के आदेश दिए। पुलिस ने दावा कि मामले की आरोपी छात्रा ने केवल अपना वीडियो साझा किया है। मुख्यमंत्री मान ने ट्वीट किया, ‘चंडीगढ़ विश्वविद्यालय की दुर्भाग्यपूर्ण घटना के बारे में सुनकर दुख हुआ…हमारी बेटियां हमारा सम्मान हैं…मामले में उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए गए हैं…जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।’

उन्होंने कहा, ‘मैं प्रशासन के संपर्क में हूं।’ इसके साथ ही मान ने लोगों से अफवाहों पर गौर नहीं करने की अपील की। दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मामले में संलिप्त लोगों को सख्त सजा मिलेगी। 

केजरीवाल ने मामले को संगीन बताया

केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘चंडीगढ़ यूनिवर्सिटी में एक लड़की ने कई छात्राओं के आपत्तिजनक वीडियो बनाकर उसे वायरल कर दिया। यह बेहद संगीन और शर्मनाक है। इसमें शामिल सभी दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिलेगी। पीड़ित बेटियां हिम्मत रखें। हम सब आपके साथ हैं। सभी संयम से काम लें।’ मोहाली के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक विवेक शील सोनी ने बताया कि कई छात्राओं का वीडियो बनाने की ‘अफवाह’ के बाद विश्वविद्यालय में प्रदर्शन हुआ। 

पुलिस का दावा छात्रा ने खुद शेयर किया था वीडियो

पुलिस अधिकारी ने बताया कि प्राथमिक जांच में सामने आया कि पकड़ी गई छात्रा ने अपना ही वीडियो हिमाचल प्रदेश के बताए जा रहे एक व्यक्ति को साझा किया। उन्होंने कहा कि उस शख्स की भूमिका की भी जांच की जा रही है। उन्होंने बताया कि भारतीय दंड संहिता की धारा- 354 सी और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है और एक छात्रा को हिरासत में लिया गया है।

पंजाब महिला आयोग भी हरकत में

पंजाब महिला आयोग की अध्यक्षा मनीषा गुलाटी ने भी विश्वविद्यालय परिसर पहुंचकर स्थिति का जायजा लिया। उन्होंने कहा, ‘मैं अभिभावकों की चिंता को समझ सकती हूं और उन्हें आश्वस्त करना चाहती हूं कि इस मामले की पुलिस द्वारा जांच की जा रही है।’ गुलाटी ने कहा, ‘यह गहन का जांच का विषय है कि महिला ने क्यों वीडियो बनाया। उसने अन्य लड़कियों का वीडियो रिकॉर्ड किया या नहीं, यह जांच का विषय है।’

Latest news

ना ही पक्ष ना ही विपक्ष, जनता के सवाल सबके समक्ष

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here